By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बाढ़ का कहर : 25 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित, 30 से अधिक लोगों की मौत

- sponsored -

बिहार में बाढ़ का कहर लगातार जारी हैं. बारिश से नदियों का जल स्तर काफी बढ़ गया है. बिहार के लगभग 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. अब तक 12 जिलों में बाढ़ की स्थिति भयावह हो चुकी है. गांव तो गांव शहर भी बाढ़ की चपेट आ में गए हैं.

-sponsored-

बाढ़ का कहर : 25 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित, 30 से अधिक लोगों की मौत

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में बाढ़ का कहर लगातार जारी हैं. बारिश से नदियों का जल स्तर काफी बढ़ गया है. बिहार के लगभग 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. अब तक 12 जिलों में बाढ़ की स्थिति भयावह हो चुकी है. गांव तो गांव शहर भी बाढ़ की चपेट आ में गए हैं. बता दें कि सीतामढ़ी शहर में भी बाढ़ का पानी घुस आया है. खबर के मुताबिक रामपदार्थ नगर में तीन मंजिला मकान ध्वस्त हो गया. यह मकान शम्भू नाथ झा का था. फिलहाल इस हादसे में किसी जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं हैं. बिहार के 12 जिलों के लोग बाढ़ से पिड़ीत हैं. हर घंटे लोगों के मरने कि खबर आ रही हैं. बाढ़ की स्थिति दिन प्रतिदिन भयावह होती जा रही है.

नेपाल के तराई इलाके और उत्तर बिहार में बारिश के कारण राज्य के कई जिलों में बाढ़ का संकट मंडरा रहा हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के 12 जिलों के 78 प्रखंडों के 555 पंचायतों में बाढ़ से हालात गंभीर हो चुके हैं,जिससे 25 लाख से ज्यादा की आबादी प्रभावित है. इस दौरान बाढ़ के पानी में डूबने से 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है जबकि हजारों घर तबाह हो चुके हैं. लेकिन कई जिले ऐसे जहां अब तक कोई भी सुविधा मुहैया नहीं हुई हैं.  बिहार जल संसाधन विभाग के मुताबिकबिहार की प्रमुख नदियों के जलस्तर में वृद्धि की जांच कि जा रही है. जबकि वीरपुर बैराज के बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक सुबह छह बजे वीरपुर बैराज में कोसी नदी का जलस्तर 1.53 लाख क्यूसेक दर्ज किया गया था जो आठ बजे बढ़कर 1.68 लाख क्यूसेक पहुंच गया. 

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.