By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हाईकोर्ट की निगरानी में BPSC पश्न पत्र लीक कांड की हो जाँच साथ-साथ परीक्षा देने वाले छात्रों को पाँच हजार मुआवजा कि मांग

Under the supervision of the High Court, the BPSC question paper leak case should be investigated, along with the demand of five thousand compensation to the students who took the examination.

HTML Code here
;

- sponsored -

गठन के जिला सहसचिव विवेक कुमार एवं पिंटू कुमार के नेतृत्व में दर्जनों छात्रों का जत्था सरकार विरोधी नारे लगाते हुए जीडी कॉलेज के मुख्य द्वार पर पहुँचें।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव – बेगूसराय में आज ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के जिला परिषद इकाई के द्वारा बिहार लोक सेवा आयोग के 67वीं परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने और फिर परीक्षा रद्द करने के खिलाफ आक्रोश मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया गया है।एआईएसएफ ने मुख्यमंत्री से बीपीएससी में शामिल हुए सभी छात्रों को पाँच हजार रूपया मुआवजा देने की भी माँग की है।

 

संगठन के जिला सहसचिव विवेक कुमार एवं पिंटू कुमार के नेतृत्व में दर्जनों छात्रों का जत्था सरकार विरोधी नारे लगाते हुए जीडी कॉलेज के मुख्य द्वार पर पहुँचें।जीडी काॅलेज के मुख्यद्वार पर ही एक प्रतिरोध सभा का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता जिलाध्यक्ष अमरेश कुमार ने की।उन्होंने अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में कहा गरीब और मेहनती छात्रों के वर्षों के मेहनत को राज्य की दोमुही सरकार नीलाम करा रही है।

 

बीपीएससी राज्य की सबसे प्रतिष्ठित आयोग है,इसके परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होना बिहार के गौरवशाली इतिहास को कलंकित करने वाला मामला है।एआईएसएफ जिला सचिव राकेश कुमार एवं सहसचिव हसमत बालाजी ने बीपीएससी प्रश्न पत्र लीक कांड की जाँच उच्च न्यायालय की निगरानी में होने पर इस मामले में कई सफेदपोश नेताओं के नाम सामने आयेंगे।सरकार में बैठे कई विधायक और मंत्रियों के भी नाम सामने आने के आसार हैं।इस कांड में शामिल सभी दोषियों के शीघ्र गिरफ़्तारी के लिए हमारा चरणबद्ध आंदोलन जारी रहेगा।उन्होंने कहा बीपीएससी की अगली परीक्षा ऑनलाइन पैटर्न पर लेने की गारंटी करते हुए सरकार को 67वीं बीपीएससी परीक्षा में शामिल होने वाले सभी छात्रों को मुआवजा देना चाहिए।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.