By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार : स्टेट हाइवे पर बह रहा बाढ़ का पानी, जान जोखिम में डाल सड़क पार कर रहे लोग

;

- sponsored -

गोपालगंज में गंडक के जलस्तर बढ़ जाने के कारण गोपालगंज के सैकड़ों गांव बाढ़ के चपेट में आगया है। लगभग एक महीना पहले गंडक नदी की जलस्तर बढ़ जाने से गोपालगंज में आठ जगह जहां बांध टूट गया था जिससे गोपालगंज,सिवान, छपरा जिले के सैकड़ों गांव प्रभावित हो गए थे।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : गोपालगंज में गंडक के जलस्तर बढ़ जाने के कारण गोपालगंज के सैकड़ों गांव बाढ़ के चपेट में आगया है। लगभग एक महीना पहले गंडक नदी की जलस्तर बढ़ जाने से गोपालगंज में आठ जगह जहां बांध टूट गया था जिससे गोपालगंज,सिवान, छपरा जिले के सैकड़ों गांव प्रभावित हो गए थे। लेकिन अभी पहली बार आई बाढ़ की पानी खत्म होने के बाद लोगों ने अभी चैन की सांस भी नही लिया था कि फिर एक बार गोपालगंज में बाढ़ ने तबाही मचा दी है।

जिले में सबसे ज्यादा तबाही बरौली प्रखंड में हुई है। बरौली के देवापुर में सारण बांध के टूटने के बाद सबसे पहले बाढ़ का पानी बरौली के देवापुर, पचरुखिया, नवादा, सिसई सहित कई पंचायतो में पंहुचा। लेकिन बाढ़ की सबसे ज्यादा मार बरौली नगर पंचायत के सभी वार्डो में पड़ी है। यहां अभी भी एनएच 28 से बरौली बाजार को जाने वाली मुख्य सडक पर बाढ़ का पानी तेज धार के साथ बह रहा है. बाढ़ के इस पानी में तेज बहाव की वजह से कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

यहां सडक के दोनों तरफ दर्जनों पेड़ थे, जो पानी के तेज बहाव में बह गए।सड़कें जगह जगह जर्जर हो गयी है। पानी से डूबे होने की वजह से इन सडकों में बड़े बड़े गड्ढे हो गए है। जिसकी वजह से अक्सर लोगो की गाडी तेज मझधार में फंस जा रही है। करीब 10 किलोमीटर तक इस सडक पर पानी बह रहा है। एनएच 28 से कहला गाँव तक सडक पर पानी बह रहा है। जिसमे वैसे लोगो को सबसे ज्यादा परेशानी है जो अपने बच्चो को , बुजर्गो को लेकर बाइक से इस पानी भरे रास्ते में चलने को विवश है। बाढ़ पीडितो के मुताबिक उन्हें कोई भी जरुरी काम निबटाने के लिए ऐसे ही जान जोखिम में डालकर कमर भर गहरे पानी में चलकर अपना काम निबटाना पड़ रहा है और बाढ़ पीडितो की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है।

;

-sponsored-

Comments are closed.