By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना टीकाकरण को बताया ऐतिहासिक महाभियान

;

- sponsored -

प्रदेश में कोरोना टीकाकरण अभियान शनिवार से शुरू होने जा रहा है। आज पहले दिन 31,700 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जाएंगे।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, लखनऊ: प्रदेश में कोरोना टीकाकरण अभियान शनिवार से शुरू होने जा रहा है। आज पहले दिन 31,700 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्बोधन के बाद राज्य में टीकाकरण की शुरुआत होगी। टीकाकरण कार्यक्रम शाम पांच बजे तक चलेगा। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे ऐतिहासिक अभियान बताते हुए प्रधानमंत्री का आभार जताया। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में आज से राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान प्रारंभ हो रहा है। यह ऐतिहासिक महाभियान ‘आत्मनिर्भर भारत’ द्वारा कोरोना से बचाव हेतु उठाया गया निर्णायक कदम साबित होगा। धन्यवाद प्रधानमंत्री जी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रथम चरण का कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान प्रदेश व देश को एक नई दिशा देगा। कोरोना की चेन को तोड़ने तथा इसे नियंत्रित करने में वैक्सीनेशन अभियान से सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुरूप प्राथमिकता के क्रम से सभी लोगों तक कोविड वैक्सीन पहुंचेगी। कोविड वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है।
प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी वैक्सीनेशन के लिए तैयारियां चल रही हैं। वाराणसी के बीएचयू अस्पताल में इसके लिए पूरी व्यवस्था की गई है। अस्पताल को गुब्बारों से सजाया गया है। स्वास्थ्य महकमे के मुताबिक आज लगभग 100 लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। काशी में कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर  25-25 के स्लॉट में लोगों को वैक्सीन लगाने का कार्य होगा। स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह के मुताबिक प्रदेश के सभी 317 केन्द्रों पर सौ-सौ स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। इसमें चिकित्सकों क साथ पैरामेडिकल स्टाफ भी शामिल है। कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों टीके लगाए जाएंगे। इसके बाद दूसरी डोज 28 दिन बाद दी जाएगी। दोनों डोज लगने के 14 दिन बाद शरीर में कोरोनावायरस के प्रति प्रतिरक्षण पैदा होगा। अभी तक प्रदेश को कोरोना वैक्सीन की कुल 10.75 लाख डोज मिल चुकी हैं। इसमें 10.55 लाख डोज कोविशील्ड की और 20 हजार डोज कोवैक्सीन की हैं।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों, दूसरे चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स, तीसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और फिर 50 वर्ष से कम आयु के उन लोगों को जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं उन्हें टीका लगाया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पहले चरण में नौ लाख स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाई जानी है और इसे तीन दिन में पूरा करने की तैयारी है। प्रदेश में टीकाकरण के लिए कुल 1,500 केन्द्रों में से पहले दिन 317 केन्द्रों पर टीकाकरण कराया जाएगा। सभी सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों के नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को तीन दिन में टीका लगाने की तैयारी की गई है। यहां हफ्ते में दो दिन सोमवार व शुक्रवार को वैक्सीन लगाने की तैयारी है।
प्रदेश में सभी टीकाकरण केन्द्रों पर प्रत्येक सत्र में पांच कर्मचारी तैनात किये गये हैं। इसमें दो पुलिस कर्मी, एक जांचकर्ता, एक वैक्सीनेटर और एक मोबिलाइजर है। टीकाकरण के हर केन्द्र पर दो वैक्सीन कैरियर और प्रत्येक में चार कंडीशनिंग आइसपैक, लाभार्थियों की संख्या के अनुसार वैक्सीन, एडी सिरिंज, हब कटर, वायल ओपनर व एनाफाइलेक्सिस किट की व्यवस्था की गई है।कोरोना टीकाकरण केन्द्रों पर तीन कमरे बनाए गए हैं। पहले कमरे में लाभार्थियों का सत्यापन करने के बाद दूसरे कमरे में वैक्सीन लगायी जाएगी। इसके बाद निगरानी कक्ष में लाभार्थी को आधे घंटे आब्जर्वेशन में रखे जाने के निर्देश हैं। किसी व्यक्ति को कोई दुष्प्रभाव होता है तो उससे बचाने के लिए एनाफाइलेक्सिस किट की व्यवस्था की गई है।
;

-sponsored-

Comments are closed.