City Post Live
NEWS 24x7

पुलिस को मिले फुटेज-मैसेज में कोचिंग संस्थान का जिक्र, पटना डीएम ने दिए जांच के आदेश|

Coaching institute mentioned in the footage-message received by the police, Patna DM ordered an inquiry.

- Sponsored -

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव – अग्निपथ के खिलाफ सुलग रही आक्रोश की चिंगारी कोचिंग सेंटर्स से तो नहीं भड़क रही। पटना डीएम ने कोचिंग सेंटर्स की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। जिला मुख्यालयों पर कोचिंग सेंटर के आसपास के इलाकों में छात्रों के अग्रेशन में आंदोलन की बड़ी कहानी छिपी है। पटना के डीएम डॉक्टर चंद्र शेखर सिंह ने आंदोलन में कोचिंग संचालकों की गतिविधियों की जांच का आदेश दिया है। डीएम ने कहा कि अगर कोचिंग सेंटर्स की किसी भी तरह की भागीदारी सामने आई तो उनके खिलाफ उचित एक्शन लिया जायेगा। डीएम ने बताया महत्वपूर्ण स्थानों पर सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। हम छात्रों से शांतिपूर्वक विरोध करने की अपील करते हैं। दानापुर रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ के आरोप में 170 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है, जबकि 46 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।गिरफ्तार किए गए लोगों के मोबाइल पर कुछ कोचिंग सेंटरों के वीडियो फुटेज और व्हाट्सएप मैसेज मिले। हम उसके आधार पर कोचिंग सेंटरों की भूमिका की जांच कर रहे हैं।

 

रेलवे स्टेशनों पर अधिक संख्या में पुलिस बल को लगाया गया

जिन कोचिंग संस्थानों की संलिप्तता पाई जाएगी उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अग्निपथ के विरोध में हो रहे प्रदर्शन को लेकर बिहार में पुलिस का अलर्ट है। रेलवे स्टेशनों पर अधिक संख्या में पुलिस बल को लगाया गया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह ने कहा है कि उपद्रव करने वालों ने खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। ऐसे लोगों को ट्रेस किया जा रहा है जो इसमें शामिल हैं।पटना से लेकर राज्य के अन्य इलाकों में आंदोलन की आग कोचिंग सेंटर्स के आसपास छात्रों के आवासीय इलाकों से सुलग रही है। पटना के मछुआ टोली, भिखना पहाड़ी और दूसरे कोचिंग के हब कहे जाने वाले इलाकों में छात्रों के गुस्से ने यह संकेत दे दिया है कि RRB NTPC के खिलाफ आंदोलन की तरह अग्निपथ के खिलाफ आंदोलन में भी उसी ट्रेंड पर काम हो रहा है।पटना सहित आसपास के जिलों में जहां भी प्रदर्शन हो रहा है वहां कोचिंग का बड़ा केंद्र है।

 

कोचिंग संचालकों पर नजर रख रही है।

सुरक्षा एजेंसियों को भी ऐसे लीडर की तलाश है जो पर्दे के पीछे से आंदोलन को हवा दे रहे हैं। इस बार के आंदोलन में छात्रों में मुंह को कपड़े से कवर किया है जिससे उन्हें ट्रेस करना बड़ी चुनौती है।छात्रों के आंदोलन को लेकर देश के सभी राज्यों में अलर्ट है। मध्य प्रदेश के साथ उत्तर प्रदेश और बिहार के साथ अन्य प्रदेशों में जिला प्रशासन कोचिंग संचालकों पर नजर रख रही है। यूपी में खुफिया अलर्ट जारी किया गया है। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में प्रशासन ने सभी फिजिकल ट्रेनर्स की जांच का आदेश जारी किया है। इसके लिए थानों के साथ एसडीएम को लगाया गया है। बिहार में भी खुफिया तंत्र आंदोलन में शामिल लोगों को ट्रेस करने में लगा है।

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.