By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चुनावी रैलियों में उड़ रही कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां, चुनाव आयोग ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

;

- sponsored -

चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन किए जाने के मामलों को गंभीरता से लिया है। चुनावी रैलियों में जहां सोशल डिस्टेंसिंग की सारी परिभाषाएं टूट रही हैं वहीं नेता भी बिना मास्क पहने जनसभाओं को संबोधित करते देखे गये हैं। आयोग ने इस मामले में राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों( जिला पदाधिकारियों) को सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन किए जाने के मामलों को गंभीरता से लिया है। चुनावी रैलियों में जहां सोशल डिस्टेंसिंग की सारी परिभाषाएं टूट रही हैं वहीं नेता भी बिना मास्क पहने जनसभाओं को संबोधित करते देखे गये हैं। आयोग ने इस मामले में राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों( जिला पदाधिकारियों) को सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है।

सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर की पार्टियों के अध्यक्षों और महासचिवों को जारी परामर्श में आयोग ने कहा है कि दिशा-निर्देशों के अनुपालन के लिए अलग-अलग निर्देश सीईओ और चुनावी राज्यों की सरकारों को जारी किया जा रहा है। आयोग ने कहा कि उसके संज्ञान में इस तरह की जनसभाओं के मामले आए हैं, जिनमें सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करते हुए भारी भीड़ जमा थी और नेता तथा चुनाव प्रचारक बगैर मास्क पहने भीड़ को संबोधित कर रहे थे। ऐसा आयोग के दिशा-निर्देशों अवहेलना करते हुए किया गया।

आयोग ने कहा कि ऐसा करके राजनीतिक दल खुद को और रैलियों में आने वाले लोगों को कोरोना संक्रमण के खतरे में डाल रहे हैं। आयोग ने यह जिक्र किया है कि निर्वाचन प्रक्रिया में सबसे अहम हितधारक होने के नाते पार्टियां चुनाव कराने के लिए आयोग द्वारा निर्धारित नियमों का पालन करने के प्रति कर्तव्यबद्ध हैं।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

आयोग ने अगस्त में जारी दिशा-निर्देशों का जिक्र करते हुए चेतावनी दी, ‘चुनाव प्रचार के दौरान निर्देशों का पालन नहीं किए जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के प्रावधानों के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा भारतीय दंड संहिता के प्रावधानों और अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

परामर्श में कहा गया है कि आयोग ने जमीनी स्तर पर भीड़ को अनुशासित रखने के संदर्भ में राजनीतिक पार्टियों और उम्मीदवारों की ओर से बरती गई लापरवाही पर गंभीर संज्ञान लिया है। इसलिए वह इस बात को दोहराता है और परामर्श देता है कि वे चुनाव प्रचार करने के दौरान अत्यधिक सतर्कता एवं सावधानी बरतें।

आयोग का परामर्श पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा लोगों से मास्क पहनने, खासतौर पर त्योहारों के मौसम में, सहित कोविड के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने का अनुरोध किए जाने के एक दिन बाद आया है। इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस मामले पर विशेषज्ञों के एक दल को बुधवार को बिहार भेजा है।

;

-sponsored-

Comments are closed.