By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

रांची के हिंदपीढ़ी में ड्रोन कैमरे से हो रही है निगरानी, पूरा इलाका सील

;

- sponsored -

कोरोना वायरस के राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी से दो पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद 72 घंटे की के लिए किए गए सील को पुलिस कड़ाई से अनुपालन करवा रही है।

-sponsored-

-sponsored-

रांची के हिंदपीढ़ी में ड्रोन कैमरे से हो रही है निगरानी, पूरा इलाका सील

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: कोरोना वायरस के राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी से दो पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद 72 घंटे की के लिए किए गए सील को पुलिस कड़ाई से अनुपालन करवा रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पूरे इलाके की निगरानी ड्रोन कैमरे से की जा रही है। पुलिस सख्ती से लॉक डाउन का पालन करवा रही हैं । पुलिस की सख्ती के बीच पूरे दिन बुधवार को हिंदपीढ़ी में कर्फ्यू का नजारा दिख रहा है। सड़कों पर कोई भी व्यक्ति नजर नहीं आ रहा है , हिंदपीढ़ी इलाके में प्रतिनियुक्त अतिरिक्त तीन डीएसपी मो नेहालुद्दीन, मो नजीर अख्तर और तौकीर आलम हिंदपीढ़ी के अलग-अलग मोहल्लों में तैनात है।इसके अलावा कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल, हिंदपीढ़ी थाना प्रभारी राधिका रमण मिंज सहित अन्य अधिकारी मौके पर लगातार गश्त कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन ने पूरे हिंदपीढ़ी इलाके को 72 घंटों के लिए पूरी तरह से सील कर दिया है। इस दौरान जिला प्रशासन की ओर से खाने-पीने के सामान भी लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है ।होम डिलीवरी की भी सेवा दी जा रही है।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

हिंदपीढ़ी में कोरोने के लक्षण वाले युवक की मौत, जांच के लिए भेजे गए सैंपल
राजधानी रांची के हिंदपीरी इलाके में मंगलवार देर रात एक युवक की संदेहास्पद मौत के बाद इलाके में दहशत का माहौल है मोहल्ले वालों का कहना है कि जिस युवक की मौत हुई है । उसमें कोरोना के लक्षण देखे गए थे। उसे 2 दिनों से हल्का बुखार, छाती में दर्द और सांस लेने में तकलीफ थी। बताया जाता है कि युवक की तबीयत कुछ दिनों से खराब चल रही थी झारखंड के पहला मरीज हिना पीढ़ी इलाके से मिलने के बाद उसके पूरे परिवार कि 5 दिन पहले ही इसकी मांग की गई थी मंगलवार की सुबह सीने में दर्द की शिकायत पर परिजनों से पहले रांची के एक निजी अस्पताल ले गए वहां से डॉक्टरों ने क्वॉरेंटाइन करने के लिए रिम्स ले जाने की सलाह दी। मगर उसके परिजन उसे सदर अस्पताल ले गए। सदर अस्पताल में इलाज करवाने के बाद कुछ दवाइयां लेकर युवक को उसके परिजन घर ले आये। लेकिन देर रात उसकी तबीयत काफी बिगड़ गई। अस्पताल ले जाने के क्रम में ही उसकी मौत हो गई। जहां युवक रहता था। उस पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। वही सैंपल को जांच के लिए रिम्स भेज दिया गया है ।रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा कि मृतक को रोना पॉजिटिव है या नेगेटिव। युवक की मौत के बाद पूरे इलाके में सन्नाटा पसरा हुआ है।
कंट्रोल रूम में हुई बैठक
हिंदीपीढ़ी में बनाए गए गुरुनानक स्कूल स्थित कंट्रोल रूम में बुधवार को बैठक हुई। लॉक डाउन को लेकर बैठक में चर्चा हुई। लोगों को आवश्यक सामग्री प्रदान करने समेत अन्य मुद्दों पर भी बातचीत हुई। बैठक में जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी और पार्षद सहित वॉलिंटियर शामिल थे ।गुरुवार शाम को हिंदी पीढ़ी में 72 घंटे का सील करने का अवधि समाप्त होगा।

 

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.