By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गढ़वा में वज्रपात से आठ की मौत, दो घायल

मृतक आश्रितों को 4-4 लाख  का मुआवजाः सीएम

Above Post Content

- sponsored -

झारखंड के सुदूरवर्ती जिला गढ़वा के मझिआंव के लाहरपुरवा में वज्रपात से आठ लोगों की मौत हो गयी। जबकि दो लोग घायल हो गये। घायलों को मझियां मंच रेफरल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल गढ़वा में रेफर कर दिया गया।

Below Featured Image

-sponsored-

गढ़वा में वज्रपात से आठ की मौत, दो घायल

सिटी पोस्ट लाइव, गढ़वा: झारखंड के सुदूरवर्ती जिला गढ़वा के मझिआंव के लाहरपुरवा में वज्रपात से आठ लोगों की मौत हो गयी। जबकि दो लोग घायल हो गये। घायलों को मझियां मंच रेफरल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल गढ़वा में रेफर कर दिया गया। मृतकों में श्रवण चौधरी का पुत्र कृष्णा चौधरी (15), मुरारी पटवा का पुत्र अंतु पटवा (16), राजेश चौधरी का पुत्र शुभम कुमार (20), बाबूलाल चौधरी का पुत्र पवन चौधरी (18), रमेश चौधरी का पुत्र संजय चौधरी (16), श्रवण चौधरी का पुत्र सोनू चौधरी (18), उपेंद्र चौधरी का पुत्र राजू चौधरी (15) एवं गोपाल चौधरी का पुत्र सुनील कुमार चौधरी (24) शामिल हैं। वहीं राजन पटवा का पुत्र राजू पटवा (14) और रोशन पटवा (12) का गढ़वा सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया गया है कि गुरुवार दोपहर वार्ड नं 6 में सभी युवक लोहरपुरवा टोला पर खेल रहे थे। इसी दौरान वर्षा शुरू हो गयी। वर्षा से बचने के लिए 10 लड़के एक पेड़ के नीचे छिप गये। इसी बीच वज्रपात हुआ और छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि घायलों को गढ़वा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां दो की मौत हो गयी। एसडीपीओ ओम प्रकाश तिवारी ने कहा कि घायलों के इलाज की अस्पताल में पूरी व्यवस्था की गयी है। चिकित्सकों की टीम घायलों का इलाज करने में लगी है। आठ लोगों की मौत हुई है और दो लोग घायल हैं। उन्होंने बताया कि सभी बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे बैठे हुए थे, इसी दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में सभी आ गये। घटना की सूचना पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शोक व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा दिया जाये। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद मृतकों के आश्रितों को 4-4 लाख रुपये का मुआवजा दिया जायेगा। घटना को लेकर पूरे गांव में कोहराम मच गया है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.