By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

इलेक्शन अपडेट छात्रसंघ चुनावः वोटिंग के दौरान आपस में भिड़े एबीवीपी और लेफ्ट छात्र संगठन के छात्र

- sponsored -

पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के लिए आज सुबह 8 बजे से वोट डाले जा रहे हैं. . पहले से हीं बिहार की राजनीति में काफी गहमा-गहमी पैदा करने वाले इस छात्र संघ चुनाव में घमासान अब भी जारी है.

Below Featured Image

-sponsored-

इलेक्शन अपडेट छात्रसंघ चुनावः वोटिंग के दौरान आपस में भिड़े एबीवीपी और लेफ्ट छात्र संगठन के छात्र

सिटी पोस्ट लाइवः पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के लिए आज सुबह 8 बजे से वोट डाले जा रहे हैं. पहले से हीं बिहार की राजनीति में काफी गहमा-गहमी पैदा करने वाले इस छात्र संघ चुनाव में घमासान अब भी जारी है. खबर है कि चुनाव की वोटिंग के दौरान बीएन काॅलेज में दो छात्र गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई है.

 

 

मीडिया रिर्पोट्स के हवाले से आ रही जानकारी के मुताबिक एबीवीपी और लेफ्ट छात्र संगठनों के बीच भिड़ंत हुई है. हांलाकि चुनाव को पुलिस की मुस्तैदी भी देखने को मिली है. झड़प के बाद पुलिस मौके पर पुलिस पहुंची लेकिन उससे पहले हीं सभी छात्रों के गुट भाग खड़े हुए. आपको बता दें कि पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में 20 हजार से अधिक मतदाता अपने मत का प्रयोग कर रहे हैं. और उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज शाम मे हीं हो जाने की उम्मीद है.  रात में वोटों की गिनती के बाद चुनाव के परिणाम घोषित हो जाएंगे. छात्रसंघ चुनाव को लेकर पहले हीं बिहार की राजनीति में खासा बवाल मचा हुआ है.

 

Also Read

-sponsored-

इस चुनाव ने बिहार की राजनीति में ऐसी उथल-पुथल पैदा कर दी है कि जेडीयू-बीजेपी सरीखे राजनीतिक दोस्त आपस में हीं उलझते नजर आए. जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को तो बीजेपी ने छात्रसंघ चुनाव से दूर रहने की भी सलाह दे डाली. यही नहीं पीके की शिकायत करने बीजेपी नेता राजभवन भी पहुंचे थे. छात्रसंघ चुनाव के दौरान प्रशांत किशोर की भूमिका पर विपक्षी पार्टियां भी हमलावर रही थी. सीएम नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर पर ऐन-केन प्रकारेण चुनाव जीतने की कोशिश का आरोप विपक्ष ने लगाया था. इस दौरान पटना विश्वविद्यालय के वीसी से प्रशांत किशोर की मुलाकात पर भी खासा बवाल हुआ. इन तमाम बवाल और विवादों के बीच आज छात्रसंघ चुनाव के लिए मतदान हो रहा है.  जाहिर है यह देखना बड़ा दिलचस्प होगा कि आखिर यह जीत किसकी झोली में जाती है.

यह भी पढ़ें – पीएम के भाषण पर फिर सवाल? सरदार पटेल के अपमान का लगा आरोप

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.