By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

उग्रवादी मुख्यधारा में लौटे नहीं तो होटवार जेल भेज देंगे : रघुवर दास

- sponsored -

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि क्षेत्र में छोटे-छोटे ग्रुप में मुखौटा पहने उग्रवादी संगठन मुख्यधारा में लौट जाएं और आत्मसमर्पण करें। बंदूक से व्यवस्था नहीं बदलेगी।

-sponsored-

उग्रवादी मुख्यधारा में लौटे नहीं तो होटवार जेल भेज देंगे : रघुवर दास
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि क्षेत्र में छोटे-छोटे ग्रुप में मुखौटा पहने उग्रवादी संगठन मुख्यधारा में लौट जाएं और आत्मसमर्पण करें। बंदूक से व्यवस्था नहीं बदलेगी। मुखौटा ओढ़ लेवी वसूलने वालों को चेतावनी देता हूं कि जल्द से जल्द आत्मसमर्पण करें, अन्यथा होटवार जेल भेजा जाएगा। सरकार की कार्यप्रणाली का आकलन आप इस बात से कर सकते हैं कि 14 वर्ष में मात्र 5 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया जबकि 5 वर्ष के शासनकाल में 61 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया। शुक्रवार को मुख्यमंत्री दास चतरा जिला के सिमरिया विधानसभा क्षेत्र में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे।सीएम दास ने कहा कि कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, राजद सहित अन्य दल गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ रहे हैं। कोई 40 सीट, कोई 30 सीट, कोई 20 सीट, कोई 10 सीट। भाजपा राज्य की ऐसी पार्टी है जो सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है। जिन पार्टियों में सरकार बनाने की क्षमता नहीं, वे गठबंधन कर आंकड़े जुटा रहे हैं। वे उग्रवाद को क्या समाप्त करेंगे, राज्य का क्या विकास करेंगे। इसका आकलन आप कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा अब मुद्रा मोचन पार्टी बनकर रह गई है। जब-जब यह सत्ता में आई सिर्फ झारखंड को लूटने का काम किया। राजद ने गाय का चारा खाया। आज चारा खाने वाले होटवार जेल में बंद हैं। झारखंड में यूपीए का शासन रहा लेकिन इनकी हिम्मत नहीं थी कि झारखंड से उग्रवाद को समाप्त करें। वर्तमान सरकार ने 5 वर्ष में झारखंड से उग्रवाद को करीब-करीब समाप्त कर दिया है। यह कैसे संभव हुआ सिर्फ और सिर्फ आपकी वजह से क्योंकि आपने एक मजबूर नहीं मजबूत डबल इंजन की सरकार दी थी।
Also Read

-sponsored-

यूपीए ने रोका था पावर प्लांट का काम, भाजपा ने प्रारंभ करवाया
रघुवर दास ने कहा कि टंडवा में निर्मित होने वाले पावर प्लांट का काम यूपीए की सरकार ने रोक कर रखा था। जिसे भाजपा की सरकार ने प्रारंभ करवाया। 800 मेगावाट का पावर प्लांट 2020 तक शुरू हो जाएगा। एनटीपीसी के साथ पतरातू में पावर प्लांट की स्थापना हो रही है। गोड्डा में भी पावर प्लांट बन रहा है। ताकि राज्य की बिजली की जरूरत को हम स्वयं पूरा कर सकें। चतरा और चाईबासा में स्टील प्लांट लगने का काम भी जल्द होगा। वर्तमान सरकार की यह सोच है कि यहां के खनिज का उपयोग यही हो। बाहर ना जाए क्योंकि यहां के खनिज को यूपीए सरकार ने चीन भेजकर घोटाला किया था।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.