By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चुनाव आयोग के निर्देश पर रिम्स पेइंग वार्ड में शनिवार देर शाम को चला सर्च ऑपरेशन

Above Post Content

- sponsored -

राजद सुप्रीमों एव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं कम होने का नाम ही नहीं ले रही है. ताजा मामला लालू प्रसाद के रिम्स से जुड़ा है जहां चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव के रिम्स स्थित पेइंग वार्ड में शनिवार देर शाम को जेल प्रशासन व जिला पुलिस का छापा पड़ा.

Below Featured Image

-sponsored-

चुनाव आयोग के निर्देश पर रिम्स पेइंग वार्ड में शनिवार देर शाम को चला सर्च ऑपरेशन

सिटी पोस्ट लाइव– राजद सुप्रीमों एव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं कम होने का नाम ही नहीं ले रही है. ताजा मामला लालू प्रसाद के रिम्स से जुड़ा है जहां चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव के रिम्स स्थित पेइंग वार्ड में शनिवार देर शाम को जेल प्रशासन व जिला पुलिस का छापा पड़ा. जेल आइजी वीरेंद्र भूषण के आदेश पर यह छापेमारी की गई .हालांकि इस दौरान लालू के रिम्‍स पेइंग वार्ड से कोई आपत्तिजनक चीज नहीं मिली .

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव-2019 के पूर्व राजनीतिक सरगर्मी को देखते हुए राज्‍य चुनाव आयोग की गाइडलाइंस के अनुसार ही जेल के अधिकारियों ने जिला पुलिस के अधिकारियों के साथ उनके वार्ड में सर्च ऑपरेशन चलाया. शाम करीब पांच बजे चले इस सर्च ऑपरेशन में वार्ड से कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं की गई है . छापेमारी टीम में काराधीक्षक अशोक कुमार चौधरी, जेलर चंद्रशेखर प्रसाद सुमन, डीएसपी सदर दीपक पांडेय, बरियातू थानेदार संजीव कुमार, रिम्स में लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में तैनात इंस्पेक्टर नारायण प्रजापति, जिला पुलिस के दस जवान व जेल के सिपाही शामिल थे.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग सभी अपराधियों एवं सजायाफ्ता नेताओं पर पैनी नजर रखे हुए है ताकि जेल के नियमों का कोई अवहेलना न कर सकें. दरअसल लालू प्रसाद यादव रांची के रिम्स में अपने स्वाथ्य का इलाज करा रहे हैं और वे चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता भी हैं. अक्सर उनसे मिलनेवाले मुलाकातियों की फेहरिस्त लम्बी होती है. शनिवार को भी उनसे कई मुलाकाती मिलने पहुंचे थे. इसी को ध्यान में रखकर ये छापेमारी की गई है. उनके सोशल साइट्स पर सक्रीय होने को लेकर भी हाल में सवाल उठे थें. चुनाव को प्रभावित करने की गुंजाइशों को देखते हुए ही लालू प्रसाद यादव के वार्ड में छापेमारी की गई है.

जे.पी चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.