By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जेडयू नेता केसी त्यागी ने कहा,विपक्ष को विधानसभा में भी बहुत कम सीटों पर आउट करेंगे

Above Post Content

- sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव- एक बार फिर से बिहार का राजनीतिक पारा गर्म है. बिहार से बीजेपी की प्रमुख सहयोगी पार्टी के मोदी सरकार के मंत्रीमंडल में शामिल न होने को लेकर अटकलों का बाजार बिहार में गर्म है. बयानों का दौर यहाँ तक आ गया कि कांग्रेस पार्टी ने तो एक तरह से जेडीयू को साथ आने का आमंत्रण तक दे दिया है.

Below Featured Image

-sponsored-

जेडयू नेता केसी त्यागी ने कहा,विपक्ष को विधानसभा में भी बहुत कम सीटों पर आउट करेंगे

सिटी पोस्ट लाइव- एक बार फिर से बिहार का राजनीतिक पारा गर्म है. बिहार से बीजेपी की प्रमुख सहयोगी पार्टी के मोदी सरकार के मंत्रीमंडल में शामिल न होने को लेकर अटकलों का बाजार बिहार में गर्म है. बयानों का दौर यहाँ तक आ गया कि कांग्रेस पार्टी ने तो एक तरह से जेडीयू को साथ आने का आमंत्रण तक दे दिया है. हालांकि जेडीयू के प्रधान महासचिव ने इन तमाम कयासों को खारिज करने की कोशिश की है. बता दें कि बीजेपी के इस रूख से जेडयू के तमाम नेताओं में नाराजगी है.

जेडयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने विपक्ष के बयान और बिहार की सियासी संभावना के सवाल पर कहा पूरे चुनाव को आरजेडी ने केंद्र के खिलाफ कम, प्रदेश की सरकार के खिलाफ चुनाव लड़ा. विपक्ष विधानसभा सीटों के लिहाज से महज 18 सीटों पर आगे रही है. ऐसे में हमारी कोशिश होगी कि विधानसभा चुनाव में इससे आगे नहीं बढ़ पाए.
जाहिर है केसी त्यागी के बयान ने बिहार में विपक्ष को फिलहाल झटका जरूर दे दिया है. दरअसल, मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने के फैसले ने बिहार की राजनीति में नई हलचल पैदा कर दी है. आरजेडी जहां नीतीश कुमार के फैसले पर तंज कस रही है, वहीं कांग्रेस इसमें अपने लिए संभावनाएं तलाशने में जुट गई है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

गुरुवार की शाम चार बजे के बाद से ही कांग्रेस नेताओं के जैसे बयान आ रहे हैं, इससे साफ लग रहा है कि पार्टी नीतीश कुमार को एक तरह से अपने पाले में करने की कोशिश में है. शुक्रवाह को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार को भाजपा ने छला है. उन्होंने कहा कि जेडीयू से एक भी मंत्री नहीं होना बिहार का अपमान है. नीतीश कुमार ने एक पद नहीं लेकर बिहार की अस्मिता की लाज रख ली. कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि बिहार में अगर बीजेपी सत्ता में है तो वह नीतीश कुमार के कारण ही है.

बता दें कि इससे पहले मंत्रीमंडल में जेडयू के शामिल न होने पर कांग्रेस के प्रवक्ता प्रेमचन्द मिश्रा ने गुरूवार को कांग्रेस के साथ आने का ऑफर देते हुए कहा था कि नीतीश कुमार बीजेपी के साथ असहज हैं. बीजेपी का यह अहंकार है कि ऐसा व्यवहार अपने सहयोगी के साथ किया. हमें इस बात का दुःख है कि नीतीश कुमार जिस महागठबंधन को छोड़कर बीजेपी के लिए गये थें उसने उनका अपमान किया. वही प्रतिक्रया देते हुए प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद ने कहा कि नीतीश कुमार को बीजेपी का साथ छोड़ देना चाहिए.
                                                                                                                             जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.