By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्रदेश अध्यक्ष के साथ JDU ने तेजस्वी के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा- नैतिकता के मुद्दे पर RJD कराह उठता है

;

- sponsored -

जेडीयू ने प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नाराय़ण सिंह के नेतृत्व में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। छठ पूजा के बाद हुई पीसी में वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ-साथ कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी, जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार, संजय सिंह और अजय आलोक ने मिलकर विपक्ष पर हमला बोला। 

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : जेडीयू ने प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नाराय़ण सिंह के नेतृत्व में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। छठ पूजा के बाद हुई पीसी में वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ-साथ कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी, जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार, संजय सिंह और अजय आलोक ने मिलकर विपक्ष पर हमला बोला।

जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि मेवालाल चौधरी को इस्तीफे के लिए मैं धन्यवाद देता हूं। सीएम नीतीश कुमार ने राजनीतिक पवित्रता का हमेशा ख्याल रखा है। खासकर तब जब कोई भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। जीतनराम मांझी, आरएन सिंह और रामधार सिंह के मामले में भी कार्रवाई की।

वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि मेवालाल चौधरी पर तेजस्वी यादव बोल रहे हैं। ऐसे मामले पर तेजस्वी यादव को बोलने का अधिकार नहीं है। लंबे समय तक विपक्ष के नेता रहे हैं। किसी मर्यादा का पालन नहीं किया। क्या लोगों को बताएंगे, स्वयं कोई उदाहरण सेट करेंगें। कई ऐसे बड़े नेता हैं, जिन्होंने सार्वजनिक जीवन सवाल उठने पर पद छोड़ दिया।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने इसका पालन किया। बिहार की जनता ने इस मामले में समर्थन दिया है। चौथी बार पांच साल के लिए फिर से सरकार बनी है। हमने समय-समय पर उदाहरण प्रस्तुत किया, जो सवाल उठा रहे हैं, उन्होंने क्या किया। जिन पर सवाल उठे हैं, उन्होंने आज तक उत्तर नहीं दिया। तेजस्वी यादव को इस तरह का सवाल उठाने का कोई अधिकार नहीं है।

जेडीयू के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा कि हमारे नेता ने 3 सी पर कभी समझौता नहीं करने की बात कही है। मेवालाल चौधरी का मामला इसका उदाहरण है। 16 को शपथ लेते हैं, 17 को मेवालाल चौधरी पर मुकदमा चलाने की अनुमति मांगी जाती है। 19 को मेवालाल चौधरी का इस्तीफा हो जाता है।उन्होंने कहा कि हमारे ऊपर उंगली उठाने वाले को नैतिक अधिकार नहीं है। जो धाराएं मेवालाल पर लगीं, वही धाराएं तेजस्वी यादव पर भी लगी हैं। तेजस्वी यादव भी उदाहरण प्रस्तुत करें, ये हमारी मांग है।

जेडीयू प्रवक्ता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि तेजस्वी यादव जनादेश नहीं मिलने का राजनैतिक मातम मना रहे हैं। हमारे इंजेक्शन से नेताओं की आह निकलती है, जनता खुश होती है। राजनीति में RJD के नेताओं जैसा कोई निर्लज्ज नहीं होता है। देश में ऐसा कोई विपक्ष का नेता नहीं होगा, जिस पर 420 का मामला दर्ज हो। नैतिकता के मुद्दे पर आरजेडी कराह उठता है। हमारे नेता ने कभी कोई भेदभाव नहीं किया। भ्रष्टाचार RJD के डीएनए में शमिल है, राजनीति इनके लिए व्यवसाय है।सदन में शपथ लेते समय तेजस्वी यादव अपने ऊपर लगी धाराओं को बताएं। जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने तेजस्वी यादव को लेकर कहा कि हमें ज्ञान देने वाले अपने गिरेबान में क्यों नहीं झांकते हैं। चुनाव खत्म हुए हैं, लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है।

जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने तेजस्वी यादव को लेकर कहा कि तेजस्वी यादव का पूरा परिवार भ्रष्टाचार का पर्याय है। जब तक तेजस्वी यादव पर भ्रष्टाचार का आरोप, तब तक विपक्ष के नेता का पद नहीं लें तो बेहतर होगा।अजय आलोक ने कहा कि बिहार में दो चेहरे हैं, लालू प्रसाद का चेहरा कराहते बिहार, समृद्ध परिवार का है। जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का चेहरा भरोसे और विश्वास का है। अगर चुने हुए प्रतिनिधियों पर आरोप है, तो उनको पद पर रहने की कोई अधिकार नहीं। हम कोर्ट से इन मामलों में फास्टट्रैक कोर्ट में सुनवाई की मांग करते हैं. मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द से जल्द हो, हम सब चाहते हैं।

;

-sponsored-

Comments are closed.