By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

किसान बिल के खिलाफ झारखंड कांग्रेस का राजभवन मार्च, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

;

- sponsored -

झारखंड की राजधानी रांची में कृषि कानून को लेकर कांग्रेस के सांसदों और विधायकों के एक दल ने मोराबादी मैदान के बापू वाटिका से राज भवन तक पैदल मार्च किया। राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा और इस कृषि कानून को रद्द करने की मांग की।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : झारखंड की राजधानी रांची में कृषि कानून को लेकर कांग्रेस के सांसदों और विधायकों के एक दल ने मोराबादी मैदान के बापू वाटिका से राज भवन तक पैदल मार्च किया। राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा और इस कृषि कानून को रद्द करने की मांग की।

वहीं राज्यपाल से मिलकर बाहर आए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा कि इस कानून में किसानों का हित नहीं है। सरकार ने इस कानून के अंदर समर्थन मूल्य का जिक्र नहीं किया है। इससे किसानों का कॉरपोरेट घरानों द्वारा शोषण किया जाएगा। उन्होनें कहा कि हम इसका विरोध करते हैं और जब तक ये काला कानून वापस नहीं लिया जाएगा तब तक कांग्रेस पार्टी विरोध प्रदर्शन जारी रखेगी।

वहीं कांग्रेस नेता और झारखंड सरकार के संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि इस कानून में सबसे बड़ी चीज यह है कि केंद्र सरकार ने समर्थन मूल्य समाप्त कर दिया है। कॉरपोरेट घराने किसानों का अनाज औने-पौने दामों पर खरीदेंगे। किसानों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ेगा। इसलिए हम इस बिल का विरोध करते हैं और राज्यपाल से मिलकर इस कानून को रद्द करने के लिए राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपे हैं।

;

-sponsored-

Comments are closed.