By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जदयू के निशाने पर ‘कुशवाहा’-‘ ना घर के रहिएगा न घाट के

- sponsored -

जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने उपेन्द्र कुशवाहा का बिना नाम लिए उनपर निशाना साधते हुए लिखा कि ‘ये साहब न घर के रहेंगे ना घाट के, जबरन शहीद बनने की असफल कोशिश करते रहिए। शुभकामना।’

-sponsored-

जदयू के निशाने पर ‘कुशवाहा’-‘ ना घर के रहिएगा न घाट के

सिटी पोस्ट लाइवः बीजेपी और जेडीयू के खिलाफ संघर्ष और लड़ाई का बिगुल फूंकनें वाले रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा को जेडीयू ने अब चेताया है। जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने उपेन्द्र कुशवाहा का बिना नाम लिए उनपर निशाना साधते हुए लिखा कि ‘ये साहब न घर के रहेंगे ना घाट के, जबरन शहीद बनने की असफल कोशिश करते रहिए। शुभकामना।’ इससे पहले उपेन्द्र कुशवाहा ने कल बीजेपी को अंतिम संकल्प सुनाते हुए कहा कि अब याचना नहीं रण होगा। संघर्ष भीषण होगा। यानि उपेन्द्र कुशवाहा ने यह साफ कर दिया है कि वे अब बीजेपी के खिलाफ लड़ाई का बिगुल फूंकेगे।

-sponsored-

Also Read

एनडीए में रहते हुए भी जदयू के साथ उपेन्द्र कुशवाहा के रिश्ते बेहद तल्ख रहे हैं। वे लगातार सीएम नीतीश कुमार पर हमलावर रहे हैं। सीट शेयरिंग पर जब बात बिगड़ी तो उन्होंने बीजेपी के खिलाफ भी बगावत का बिगुल फूंक दिया था। बगावत की वजह से उपेन्द्र कुशवाहा पहले भी जेडीयू और बीजेपी नेताओं के निशाने पर रहे हैं। जेडीयू के साथ कुशवाहा के रिश्ते कितने तल्ख है वह जदयू प्रवक्ता डाॅ. अजय आलोक के इस ताजा ट्वीट से समझा जा सकता है। आपको बता दें कि उपेन्द्र कुशवाहा ने सीटों की शेयरिंग पर किसी भी तरह की बातचीत के लिए बीजेपी को 30 नवंबर तक का अल्टीमेटम दिया था। अल्टीमेटम खत्म हुआ तो उपेन्द्र कुशवाहा ने शिक्षा सुधार की 25 सूत्री मांगो को मानने की नयी शर्त रख दी थी। हांलाकि उनके अल्टीमेटम को भी बीजेपी ने तवज्जो नहीं दी और इस नयी शर्त पर उल्टे जेडीयू नेताओं ने उनसे सवाल पूछे कि केन्द्र में मानव संसाधन राज्य मंत्री रहते उपेन्द्र कुशवाहा ने शिक्षा में कितना सुधार किया।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.