By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लालू प्रसाद यादव की किडनी से प्रोटीन का हो रहा है रिसाव,डायट पर डॉक्टर की ध्यान

- sponsored -

राजद सुप्रीमों एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव इन दिनों रांची के रिम्स में इलाज करवा रहे हैं. लेकिन उनकी स्वास्थ्य को लेकर एक बहुत बड़ी खबर आ रही है. दरअसल लालू प्रसाद यादव को मधुमेह है जो नियंन्त्रित नहीं रह रहा है. उनका ब्लड के शुगर का लेवल हमेशा बढ़ा रह रहा है जिससे डॉक्टर भी परेशान हैं.

-sponsored-

लालू प्रसाद यादव की किडनी से प्रोटीन का हो रहा है रिसाव,डायट पर डॉक्टर की ध्यान

सिटी पोस्ट लाइव- राजद सुप्रीमों एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव इन दिनों रांची के रिम्स में इलाज करवा रहे हैं. लेकिन उनकी स्वास्थ्य को लेकर एक बहुत बड़ी खबर आ रही है. दरअसल लालू प्रसाद यादव को मधुमेह है जो नियंन्त्रित नहीं रह रहा है. उनका ब्लड के शुगर का लेवल हमेशा बढ़ा रह रहा है जिससे डॉक्टर भी परेशान हैं. इस मधुमेह के कारण उनकी किडनी पर भी इसका असर पड़ रहा है.उनकी किडनी से लगातार प्रोटीन लीक हो रहा है. जिससे बचने के लिए उन्‍हें रोज चार-चार अंडे दिए जा रहे हैं.

आपको बता दें कि चारा घोटाले के चार मामलों में लालू प्रसाद यादव सजायाफ्ता हैं. और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव इन दिनों बीमार हैं .उनका रांची के रिम्स में उनका इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि लालू की एक किडनी फिलहाल 50 प्रतिशत तक काम नहीं कर रही है. ऐसे में उनके सेवादारों को डायट के साथ जर्दी हटाकर कम से कम चार अंडा प्रतिदिन देने की सख्‍त हिदायत दी गई है. लालू का इलाज कर रहे डॉक्‍टर डीके झा के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव की महीने में एक बार जांच कराई जाती है. उन्‍हें बारिश के मौसम में अतिरिक्‍त सावधानी बरतने को कहा गया है. खाने-पीने के लिहाज से ताजा भोजन करने की हिदायत दी गई है.

Also Read

-sponsored-

वहीं उनके स्वास्थ्य की देख भाल कर रहे डॉक्टर डीके झा ने बताया कि बीते दिनों मालदा आम खाने से लालू का शूगर लगातार बढ़ रहा था. जिसे कंट्रोल में करने के लिए इंसुलिन का डोज भी बढ़ाया गया था. ऐसे में लालू को आम खाने से कड़ी मनाही कर दी गई है. हालांकि फिलहाल उनकी तबीयत में सुधार है तथा ब्लड प्रेशर भी ठीक है. बता दें कि जल्द ही उनके बड़े पुत्र तेजप्रताप भी उनसे जाकर मिले थें.
                                                                                                                                                 जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.