By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लालू के डॉक्टर की मुश्किलें बढ़ी; मुलाकातियों से एक मीटर दूर रहने की सलाह

Above Post Content

- sponsored -

रांची के रिम्स में इलाजरत चारा घोटाला के चार मामलों के सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को डॉक्टरों ने कोरोना से बचाव के मद्देनजर मुलाकातियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रहने की सलाह दी है। उन्हें हमेशा हाथ धोने और सैनिटाइजर का उपयोग करने को भी कहा गया है। व

Below Featured Image

-sponsored-

लालू के डॉक्टर की मुश्किलें बढ़ी; मुलाकातियों से एक मीटर दूर रहने की सलाह

सिटी पोस्ट लाइव: रांची के रिम्स में इलाजरत चारा घोटाला के चार मामलों के सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को डॉक्टरों ने कोरोना से बचाव के मद्देनजर मुलाकातियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रहने की सलाह दी है। उन्हें हमेशा हाथ धोने और सैनिटाइजर का उपयोग करने को भी कहा गया है। वहीं शनिवार को उनसे मिलने आए राजद नेताओं ने लालू के स्वास्थ्य को देखते हुए रिम्स के पेइंग वार्ड के ऊपर से कोरोना आइसोलेशन वार्ड हटाने की मांग की।

ये भी पढ़े : सुबह सुबह तेजस्वी यादव ने मांगा मुख्यमंत्री से 15 सालों का हिसाब

Also Read

-sponsored-

शनिवार को रिम्‍स में लालू की देखरेख करने वाले चिकित्‍सक डॉ.उमेश प्रसाद ने लालू का मेडिकल बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि लालू का ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर और किडनी फंक्शिनिंग सामान्य है। तो वही कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि, यह वायरस वैसे लोगों को ज्यादा इफेक्ट कर रहा है, जिनकी उम्र 50 से ज्यादा है। लालू प्रसाद यादव की उम्र 70 साल से ज्यादा है और उन्हें जहां रखा गया है उसके ऊपर ही आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इससे उन्हें संक्रमण से बचने के प्रति ज्यादा सचेत रहने की जरूरत है। डॉ. उमेश प्रसाद ने कहा कि, एहतियात ही कोरोना वायरस का सबसे पहला उपचार है।

राजद सु्प्रीमो लालू प्रसाद यादव से शनिवार को राजद नेता दिलीप कुमार, बिहार राजद महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश उपाध्यक्ष रेणु कुमारी व प्रदेश महासचिव बबीता यादव ने मुलाकात की। मुलाकात के बाद रेणु कुमारी ने राजद सुप्रीमो के स्वास्थ्य पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि दलितों, पिछड़ों व शोषितों के नेता के स्वास्थ्य की सभी को चिंता रहती है। उन्होंने जेल प्रशासन से मांग की है कि लालू को बेहतर इलाज के लिए बगैर देर किए एम्स भेजना चाहिए। वहीं उनके वार्ड के ऊपरी तल्ले में क्वारंटाइन वार्ड बनाने पर विरोध जताया।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.