By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मोदी कैबिनेट ने पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के बाद बिहार को दी बक्सर पावर प्लांट की सौगात

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

 

मोदी कैबिनेट ने पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के बाद बिहार को दी बक्सर पावर प्लांट की सौगात

सिटी पोस्ट लाइव लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही बिहार को विकास के कई सौगात मिलने लगे हैं. पहले तो पटना को मेट्रो का सौगात मिला और अब केंद्र सरकार ने बिहार में एक बड़े प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है. यह मंजूरी गुरुवार को मोदी कैबिनेट की बैठक में मिली है. इस प्रस्ताव पर मुहर लगने के बाद बक्सर जिले के चौसा में पावर प्रोजेक्ट्स लगने का रास्ता साफ़ हो गया है. बक्सर जिले के चौसा में 660-660 मेगावाट के दो ताप विद्युत संयंत्रों की स्थापना की जाएगी.

[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इस मामले में जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री आरके सिन्हा ने बताया कि केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में बक्सर थर्मल पावर प्रोजेक्ट पर मुहर लगी है. करीब 10,439 करोड़ रू की लागत से बक्सर थर्मल पावर प्रोजेक्ट अगले चार से पांच सालों में यानी 2023-24 में बनकर तैयार हो जाएगा. इस परियोजना में 660-660 मेगावाट के दो यूनिट से बिजली का उत्पादन शुरू हो जाएगा. उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट से रोजगार और सामाजिक-आर्थिक तरक्की में भी मदद मिलेगी और कई तरह का लाभ मिलेगा.

Also Read

मालुम हो कि बिहार सरकार के साथ कम-से-कम 85 फीसदी बिजली खरीदने को लेकर करार पर भी हस्ताक्षर हो चुका है. जानकारी के मुताबिक चौसा में उत्पादित बिजली परियोजना का करीब 60 फीसदी हिस्सा पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश को भी दिया जाएगा. इस प्लांट में पानी की आपूर्ति गंगा से की जायेगी.  वैसे 2024  तक यह प्लांट बनकर पूरा हो जाएगा .

अगर सब कुछ ठीक रहा तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही इसका शिलान्यास भी कर सकते हैं. केन्द्रीय कैबिनेट से मंजूरी के बाद लोगों में काफी खुशी देखी जा रही है. आपको बता दें कि बिहार में विकास के अवरूध होने का एक प्रमुख कारण बिजली भी रहा है. साथ ही कृषि कार्यों के लिए भी किसानों को बिजली नहीं मिल पाती है जिसके कारण किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.