By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

“मुझे जनता के दिल से कोई नहीं निकाल सकता है”- तेज प्रताप यादव

;

- sponsored -

 राजद परिवार के लिए मुश्किलों के दौर में एक राहत भरी खबर यह है,कि कुछ दिन पहले  तेजप्रताप यादव बिहार लौट आएं हैं .उन्होंने राजनीति में भी अपनी सक्रियता दिखानी शुरू कर दिया है

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

“मुझे जनता के दिल से कोई नहीं निकाल सकता है”- तेज प्रताप यादव

सिटी पोस्ट लाइव – राजद परिवार के लिए मुश्किलों के दौर में एक राहत भरी खबर यह है,कि कुछ दिन पहले  तेजप्रताप यादव बिहार लौट आएं हैं .उन्होंने राजनीति में भी अपनी सक्रियता दिखानी शुरू कर दिया है. पटना के बाद वे रांची अपने पिता राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव से मिलने गये थें. इस दौरान उनहोंने एक प्रेस कांफ्रेंस किया. इस दौरान पत्रकारो के सवालों का जवाब देते हुए तेजप्रताप ने एक बार फिर से बीजेपी और आरएसएस पर जमकर हमला किया है.

 

रांची में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए तेजप्रताप यादव ने पत्रकारों के सामने बीजेपी पर जमकर हमला बोला. तेजप्रताप ने कहा कि -“हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को जनता ने पूरी तरह से नाकार दिया है. तेजप्रताप ने एक बार फिर से 2019 के चुनावों को एक रण की तरह से लड़ने की बात कहते हुए कहा कि महाभारत की तरह ही 2019 का चुनाव होगा. इस दौरान तेजप्रताप ने गीता बहुचर्चित श्लोक भी पढ़ कर सुनाया.”

 

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

वहीँ रोजगार के मुद्दे पर तेजप्रताप ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि -“युवाओं को इस सरकार से बहुत उम्मीदें थी वे पुरी नहीं हो सकी. तेजप्रताप यादव ने इस दौरान अपनी निजी जिंन्दगी को लेकर भी बातें की. उन्होंने कहा कि मुझे कोई मानसिक तनाव नहीं है. तेजप्रताप ने आगे कहा कि वे जनता के नेता है और जनता के दिल से उन्हें कोई निकाल नहीं सकता है. आपको बताते चलें कि तेजप्रताप यादव कल रांची पहुंचे थें.उन्होंने अपने पिता  से  मिलकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी लिया. इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि – मेरे पिता ही मेरे लिये ब्रह्मा,विष्णु एवं महेश हैं. उन्होंने हमे संगठन को मजबूत करने की जिम्मेवारी सौपी है.” वहीं उनके द्वारा बनाया गया संगठन डीएसएस भी एक बार फिर से सक्रिय हो गया है.डीएसएस के नेता एवं बिहार के मीडिया प्रभारी आफताब आलम का यही मानना है. उन्होंने बात -चीत में कहा कि – “डीएसएस हमेंशा से सक्रीय रहा हैं. बीजेपी केवल वादा करती है. वह केवल  जुमलों की पार्टी है. राजद गरीबों की हमेशा से पार्टी रही है. हमारे नेता आदरणीय लालूजी को एक षड्यंत्र के तहत फंसाया गया है. वे जल्द रिहा होंगे.हमेशा सच्चाई की जीत होती है.”

 

यह भी पढ़ें – उपेन्द्र कुशवाहा ने चिराग को दी नसीहत, कहा-“हम तो एनडीए से बाहर आ गए, आप भी आ जाइए”

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.