By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

AES से एक बच्चे की मौत, अभी तक 6 मासूम हो चुके हैं बीमार.

HTML Code here
;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :बिहार में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ ही.इस बीच मुजफ्फरपुर में एईएस (AES) से  बच्चों की जान जाने ल्ल्गी है. जिले के एसकेएमसीएच (SKMCH Muzaffarpur) में इलाजरत एक एईएस पीड़ित बच्चे की मौत हो गई है. 3 साल के इस बच्चे पीयूष राज का इलाज एसकेएमसीएच के पेडिया आईसीयू (ICU) में चल रहा था. पीयूष राज मोतिहारी के पताही का रहने वाला था.उसे रविवार की शाम को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था.

शिशु रोग के विभागाध्यक्ष गोपाल शंकर सहनी के अनुसार भर्ती करने के समय ही उस बच्चे में सोडियम और ग्लूकोज की भारी कमी थी. हीट स्ट्रोक की चपेट में आने से उसकी हालत खराब थी. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि बहुत देर से अस्पताल पहुंचने की वजह से पीयूष की मौत हुई है.फिलहाल एसकेएमसीएच के पीकू में तीन और बच्चे भी इलाजरत हैं. इस साल एईएस के कुल 8 मामले रजिस्टर किए गए हैं, जिनमें 6 बीमार बच्चों में इसकी पुष्टि की गई है.

पिछले दिनों कांटी के गोसाई टोला में 12 साल के एक बच्चे की मौत चमकी बुखार से हो गई थी लेकिन सिविल सर्जन डॉ एस के चौधरी ने मौत का कारण  AES मानने से इनकार कर दिया था. इस बीच एक अच्छी खबर यह है कि मुसहरी का 4 साल का एक बच्चा ठीक हो गया है जिसे डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया है.  डॉ गोपाल शंकर साहनी ने आम लोगों से अपील की है कि बच्चों को धूप में नहीं जाने दे और उन्हें भूखा कभी मत छोड़ें. बच्चे जब सो जाते हैं तो उन्हें बार-बार जगा कर चेक करते रहें और बीमार होने पर तुरंत बच्चे को अस्पताल में लेकर आए.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.