By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पीरबहोर थाने में छात्रों ने जमकर की नारेबाजी,भाजपा ने कहा-“प्रशांत किशोर को गिरफ्तार करो”

Above Post Content

- sponsored -

  पटना विवि का छात्र संघ चुनाव धीरे -धीरे राजनीतिक दलों का चुनाव बनता जा रहा है. जिस प्रकार  से राजनीतिक पार्टीयाँ इसमें कूद गई हैं उससे तो यही पता चलता है

Below Featured Image

-sponsored-

पीरबहोर थाने में छात्रों ने जमकर की नारेबाजी ,भाजपा ने कहा प्रशांत किशोर को गिरफ्तार करो

सिटी पोस्ट लाईव :  पटना विवि का छात्र संघ चुनाव धीरे -धीरे राजनीतिक दलों का चुनाव बनता जा रहा है. जिस प्रकार  से राजनीतिक पार्टीयाँ इसमें कूद गई हैं उससे तो यही पता चलता है.  भाजपा नेता सोमवार को घटित प्रशांत किशोर के मामले पर अब विरोध में खुलकर सामने आ गए है. वहीँ बीजेपी नेता प्रशांत किशोर की गिरफ्तारी को लेकर पीरबहोर थाने  में धरने पर बैठे है. पीरबहोर थाने  में जमकर नारेबाजी की गई.

 

 

भाजपा के विधायक अरुण सिन्हा ने कहा कि -“अगर विवि में अन्याय होगा तो हम चुप नहीं बैठेंगे. “अरुण सिन्हा के साथ बीजेपी के विधायक नितिन नवीन भी धरने पर बैठे थें. थाने  परिसर में ABVP के कार्यकर्ता भी मौजूद थें. अगर यह कहा जाय की जदयू पर बीजेपी हमलावर हो गई है तो यह कथन गलत नही होगा . मालूम हो की सोमवार को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रशांत किशोर पटना विवि के कुलपति से मिले थें. उसके बाद राजनीति गरमा गई थी. भाजयूमो सहित कई छात्र संगठनों ने इस मामले पर कुलपति के आवास को चारो तरफ से  घेर लिया था. बड़ी मुश्किल से प्रशांत किशोर को बाहर सुरक्षित निकाला गया था. छात्रों ने रोड़ेबाजी भी की थी.जिससे उनका गाड़ी छतिग्रस्त हो गया था.बाद में  भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मुलाकात किया था  और इसे आचार संहिता का  उल्लंघन बताया था .ज्ञात हो की पटना विवि में चुनाव से पूर्व किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेता का प्रवेश निषेध है.

 

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

छात्र संगठन ABVP सहित कई अन्य छात्र संगठनो का कहना है कि -“प्रशांत  किशोर विवि में चुनाव को प्रभावित करने आए थें. छात्र संगठनों का कहना था की जब किसी भी राजनीतिक पार्टी का प्रवेश अवैध है तो वे क्यों यहाँ आए थें. यह  आचार संहिता का खुलम -खुल्ला उलंघन है.”

 

 

 

 

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.