By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा: बैंक दे रहे नकली सोना के बदले करोड़ों के लोन

Above Post Content

- sponsored -

पिछले महीने ही गोपालगंज से बैंकों द्वारा नकली गोल्ड के बदले असली लोन दिए जाने का मामला उजागर हुआ था. बैंककर्मियों की मिलीभगत भी सामने आई थी.अब  दरभंगा में सोना के बदले पीतल से बने आभूषण देकर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से गोल्ड लोन देने का एक सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है

Below Featured Image

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव:  बिहार में नकली सोना के बदले करोड़ों रुपये के गोल्ड दिए जाने के मामले सामने आ रहे हैं. अबतक कई जिलों से इस तरह की खबरें आ चुकी हैं. पिछले महीने ही गोपालगंज से बैंकों द्वारा नकली गोल्ड के बदले असली लोन दिए जाने का मामला उजागर हुआ था और उसमे बैंककर्मियों की मिलीभगत भी सामने आई थी.अब  दरभंगा में सोना के बदले पीतल से बने आभूषण देकर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की कमर्शियल चौक शाखा से गोल्ड लोन देने का एक सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है. इस मामले का खुलासा तब हुआ जब सेंट्रल ऑडिट की टीम बैंक में पहुंची और ऑडिट के दौरान गोल्ड लोन के रूप में रखे कुछ सोने के सैंपल की जांच की गई.

गोल्ड जांचने वाली मशीन ‘कैरोमीटर’ से गोल्ड लोन के रूप में जमा सभी गोल्ड की जांच की गई. इस दौरान यह मामला सामने आया. सूत्रों की माने तो इस शाखा में लगभग 315 गोल्ड लोन खाता में से एक सौ खाते में जमा सोना नकली है और करीब डेढ़ करोड़ रुपए के फर्जीवाड़े का मामला है.रविवार होने के बावजूद भी ऑडिट टीम के द्वारा दिन भर गोल्ड लोन से संबंधित फाइल को खंगाला जाता रहा. दरअसल, लोन लेने वालों की गोल्ड की शुद्धता और मूल्य की जांच के लिए बैंक ने रहमगंज स्थित हीरालाल पन्नालाल दुकान से अनुबंध कर रखा है, जो बैंक कर्मियों, ग्राहकों और दुकानदार की मिलीभगत से नकली सोना पर भी असली का मुहर लगाता रहा और यह खेल चलता रहा. हीरालाल पन्नालाल दुकानदार सोने के नकली जेवर खुद तैयार कर ग्राहकों को बैंक में जमा करने के लिए देता था. इसके एवज में उसे कमीशन मिल जाता था. कहा यह भी जाता है कि दूसरे लोगों को खड़ा कर दुकानदार ने भी गोल्ड लोन के नाम पर काफी रुपए बैंक से ले रखा है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.