By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सोरेन परिवार आदिवासियों की जमीन छीनकर जमींदार बन गया : रघुवर दास

- sponsored -

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वर्षों तक झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) को अपने क्षेत्र के विकास के लिए लोगों ने दायित्व सौंपा, लेकिन उसका परिणाम क्या आया।

-sponsored-

सोरेन परिवार आदिवासियों की जमीन छीनकर जमींदार बन गया : रघुवर दास

सिटी पोस्ट लाइव, चक्रधरपुर/रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वर्षों तक झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) को अपने क्षेत्र के विकास के लिए लोगों ने दायित्व सौंपा, लेकिन उसका परिणाम क्या आया। यह सब आप अनुभव कर रहे होंगे। झारखंड के विकास, आदिवासियों का हित और गरीबों का हितैषी बताने वाले झामुमो ने कुछ नहीं किया। झामुमो ने तो आदिवासियों की संस्कृति को अक्षुण्ण रखने का भी काम नहीं किया। यह जरूर है हेमंत सोरेन ने झारखंड की नदियों का बालू बेचकर और सीएनटी/एसपीटी एक्ट का उल्लंघन कर आदिवासियों की जमीन छीनकर खुद जमींदार बनने का काम किया। दास शनिवार को चक्रधरपुर में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। वह पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के पक्ष में चुनाव प्रचार करने गये थे। उन्होंने कहा कि कोल्हान की जनता खुद आकलन करे कि कौन उनका हितैषी है और कौन नहीं। कोल्हान को झामुमो से मुक्त करने का संकल्प लें और क्षेत्र के विकास के मार्ग को प्रशस्त करें। क्षणिक लाभ के लिए आप अपने विकास के मार्ग को अवरुद्ध न करें। मतदान जरूर करें। विकास के लिए और झारखंड की समृद्धि के लिए।

डबल इंजन की सरकार से उग्रवाद नियंत्रित, विकास को गति

Also Read

-sponsored-

मुख्यमंत्री ने कहा कि मजबूत व स्थिर सरकार की वजह से नीतियां बनती हैं, निर्णय लेने की क्षमता में इजाफा होता है और अफसर भी बेलगाम नहीं होते। लेकिन मिलीजुली सरकार से न नीतियां बन पाती है, न निर्णय लिया जाता है और न अफसरों पर नियंत्रण रहता है। इसका नुकसान गरीबों और आदिवासियों को होता है। विगत पांच साल में स्थिर सरकार की वजह से कई काम हुए हैं। डबल इंजन सरकार की वजह से ही 57 लाख परिवार को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिला, बिजली से वंचित 30 लाख घरों को रोशन किया गया, 40 लाख परिवार को गैस चूल्हा मिला, हर गरीब को आवास देने की प्रक्रिया प्रारंभ हुई, हर गांव शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य आरंभ हुआ, किसान की समृद्धि के लिए उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की गई, महिलाओं का सशक्तीकरण हुआ। मैं यह नहीं कहता कि झारखंड में पूरी तरह से विकास हो गया। अभी भी स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में हमें कई काम करने हैं। 5 वर्षोंं में इसे रफ्तार दिया गया है। डबल इंजन की सरकार की मदद से इसकी गति को आने वाले वर्षों में और भी बढ़ानी है।

रघुवर दास ने पेश की चक्रधरपुर में हुए विकास कार्यों की रिपोर्ट

चक्रधरपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल 176.9 किमी सड़क का निर्माण कार्य जारी है। मुख्यमंत्री ग्राम सेतु योजना के तहत 7 पुलों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। चक्रधरपुर विधानसभा में एक नया सब स्टेशन का निर्माण हो रहा है। 290.2 किमी एचटीएल एलटी लाइन बिछायी गयी। 187 नए ट्रांसफार्मर लगे, 8996 घरों को विद्युत कनेक्शन प्रदान किया गया। तीन पंचायतों को जलापूर्ति उपलब्ध करायी गयी, जिसकी कुल आबादी 8514 है। इसका कार्य प्रगति पर है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत 2823 परिवारों को आवास उपलब्ध कराया गया। आयुष्मान भारत योजना के तहत 10767 परिवारों का निबंधन हुआ। 1834 रोगियों का अबतक निःशुल्क इलाज हो चुका है। उज्जवला योजना के तहत 27630 परिवारों को गैस सिलेंडर व पहला गैस रिफिल भी मुफ्त दिया गया। मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत 110809 कृषकों को योजना के तहत अब तक 18 करोड़ रुपये, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 4863 कृषकों को 1.13 करोड़ रूपए उनके खाते में हस्तांतरित हुए एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 6820 कृषकों को आच्छादित किया गया। 11724 व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत पेंशन का लाभ दिया जा रहा है। क्षेत्र के आदिवासी नेतृत्व का सम्मान योजना के तहत मानकी, मुंडा व अन्य को प्रतिमाह सम्मान राशि दी जा रही है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.