By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

केन्द्र में हम दो, हमारे दो की सरकार : रामेश्वर उरांव

;

- sponsored -

झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सह वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि केंद्र में हम दो, हमारे दो की सरकार है। रामेश्वर उरांव सोमवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक में बोल रहे थे।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सह वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि केंद्र में हम दो, हमारे दो की सरकार है। रामेश्वर उरांव सोमवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक में बोल रहे थे।  बैठक में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमत के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस के राज्यव्यापी आंदोलन करने का निर्णय लिया है। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस की ओर से किए जाने वाले आंदोलन को लेकर  यह बैठक आयोजित की गई थी। रामेश्वर उरांव ने कहा कि पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दामों में हो रहे लगातार वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन कर रही है। केन्द्र में बैठी मोदी सरकार कोरोना जैसे आपदा में भी अवसर तलाश लिया है और गरीब और बेरोजगार जनता का दोहन कर रही है, जहां एक ओर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेलों के दामों भारी गिरावट आयी है। वहीं भारत में इसके दामों में जबरदस्त उछाल आई है। केन्द्र में बैठी मोदी सरकार कीमत बढ़ाकर कमाई में लगी है। उन्होंने कहा कि देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है। केन्द्र सरकार की गलत नीति से देश की जनता त्राहिमाम कर रही है।
बैठक में कांग्रेस विधायक के दल नेता सह ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि केन्द्र सरकार पूरी तरह असंवेदनशील है। दोनों हाथों से देश की जनता से लूट रही है। एक तरफ चैतरफा महंगाई की मार है तो वहीं पेट्रोल,डीजल और गैस के दामों में बेतहाशा बृद्धि मोदी सरकार के नाकामियों को दर्शा रहा है। उन्होंने कहा कि 2014 से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में सरकार लगातार एक्ससाइज ड्यूटी बढ़ाने का काम कर रही है।  बैठक में  प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव,  राजेश गुप्ता, राकेश सिन्हा, डाॅ एम तौसीफ,  कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, केशव महतो कमलेश आदि शामिल हुए। बैठक के संबंध में जानकारी देते हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने बताया कि बैठक में राज्य व्यापी आंदोलन पर चर्चा हुई और यह तय हुआ कि केन्द्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ 25 फरवरी को सभी जिलों में एवं प्रदेश मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। 26 फरवरी को सभी जिला मुख्यालयों में मशाल जुलूस एवं 27 फरवरी को जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम किया जायेगा।
;

-sponsored-

Comments are closed.