By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

भगवान के दर पर चिराग; पापा को स्वस्थ्य करने और सीटों का मामला सुलझाने की लगायी गुहार

;

- sponsored -

एनडीए के अंदर सीट शेयरिंग का मामला अब फाइनल स्टेज पर आ गया है। सीटों को लेकर एलजेपी की स्थिति अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है। इधर पिता रामविलास पासवान की बीमारी को लेकर भी पार्टी सुप्रीमो चिराग पासवान चिंतित हैं। इस बीच चिराग पासवान ने भगवान के दर पर पहुंच कर पूजा-अर्चना की है और सबकुछ ठीक करने की गुहार लगायी है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : एनडीए के अंदर सीट शेयरिंग का मामला अब फाइनल स्टेज पर आ गया है। सीटों को लेकर एलजेपी की स्थिति अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है। इधर पिता रामविलास पासवान की बीमारी को लेकर भी पार्टी सुप्रीमो चिराग पासवान चिंतित हैं। इस बीच चिराग पासवान ने भगवान के दर पर पहुंच कर पूजा-अर्चना की है और सबकुछ ठीक करने की गुहार लगायी है।

आज चिराग पासवान दिल्ली के महावीर मंदिर पहुंचे हैं। एलजेपी सुप्रीमो चिराग पासवान अपने पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के जल्द ठीक होने की कामना को लेकर आज महावीर मंदिर पहुंचे हैं। इस बीच मिल रही खबरों के मुताबिक चिराग पासवान को सीटों पर फाइनल फैसले के लिए आज तक का वक्त मिला है। क्योंकि खबरों के मुताबिक कल एनडीए सीट शेयरिंग का एलान कर सकती है। इन मुश्किलों के बीच घिरे चिराग पासवान भगवान के दर पर पहुंच गये हैं।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बता दें कि बिहार एनडीए के दो बड़े घटक दल जेडीयू और बीजेपी कल 30 सितंबर को सीटों का ऐलान कर सकते हैं। दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति बनने के साथ ही अंतिम रूप से भी निर्णय ले लिया गया है। ऐसे में पटना में बीजेपी और जेडीयू साझा प्रेस कांफ्रेंस करके सीटों का ऐलान कर सकती है।

सूत्रों से जानकारी मिली है कि एनडीए में तीसरे बड़े दल यानी चिराग पासवान की पार्टी LJP की बात अभी तक नहीं बनी है। 30 सितंबर को बीजेपी और जेडीयू को अपनी सीटों का ऐलान करना है, ऐसे में आज यानी 29 सितंबर तक का समय अंतिम फैसला लेने के लिए मांगा है। उम्मीद जताई जा रही है कि चिराग पासवान एनडीए में ही रह सकते हैं।

एलजेपी की तरफ से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने तार्किक समझौते के तहत सीटों पर उम्मीदवार उतारने की बात कही थी। चिराग ने पार्टी के नेताओं से कहा था कि वे 143 सीटों पर बीजेपी के साथ, लेकिन जेडीयू के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं। ऐसे में एनडीए से एलजेपी के अलग होने की आशंकाओं के मद्देनजर चिराग पासवान को एलजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं ने यह सलाह दी थी कि मौजूदा माहौल में एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ना जोखिम भरा हो सकता है।बताया जा रहा है कि बीजेपी ने एलजेपी को 27 विधानसभा सीटों और एमएलसी की दो सीटें ऑफर की हैं।

;

-sponsored-

Comments are closed.