By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कांग्रेस का जिन्ना प्रकरण में पलटवार, मजार पर मत्था टेके BJP अध्यक्ष और सवाल हमसे पूछे

;

- sponsored -

कांग्रेस ने जिन्ना प्रकरण में बीजेपी पर बड़ा पलटवार किया है। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कह दिया कि जिन्ना की मजार पर मत्था टेके बीजेपी के अध्यक्ष और सवाल हमसे पूछे जा रहे हैं।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : कांग्रेस ने जिन्ना प्रकरण में बीजेपी पर बड़ा पलटवार किया है। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कह दिया कि जिन्ना की मजार पर मत्था टेके बीजेपी के अध्यक्ष और सवाल हमसे पूछे जा रहे हैं।इस बीच जाले से कांग्रेस के टिकट के दावेदार रहे ऋषि मिश्रा ने फिर से विचार कर जिन्नावादी की जगह गांधीवादी को टिकट देने की मांग की है।

जाले के कांग्रेस उम्मीदवार के जिन्ना वादी होने के सवाल पर कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला इसे पूरी तरह गलत बताया। कांग्रेस के सीनियर लीडर और प्रवक्ता सुरजेवाला ने कहा कि एएमयू का अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था कि एएमयू, संसद और मुंबई हाईकोर्ट से जिन्ना की मूर्ति को हटवाया जाए लेकिन उसका आज तक जवाब नहीं मिला। सुरजेवाला ने बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष रहे लालकृष्ण आडवाणी का नाम लिए बिना पलटवार करते हुए कहा कि जिन्ना की मजार पर मत्था टेके बीजेपी के अध्यक्ष और सवाल हमसे पूछे जा रहे हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव में जिन्ना के जिन्न को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में तलवारें खिंच गई है। सियासी आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। दरअसल बिहार में जाले विधानसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार मस्कुर उस्मानी को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में सियासी घमासान शुरू हो गया है। बीजेपी ने कांग्रेस उम्मीदवार पर जिन्ना समर्थक होने का आरोप लगाया है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बीजेपी का फायरब्रांड नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने दावा किया है कि उस्मानी ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र संघ में रहते हुए जिन्ना की तस्वीर लगाई थी। इस यूनिवर्सिटी से जिन्ना की तस्वीर हटाए जाने पर उन्होंने काफी बवाल मचाया था। उसपर मुकदमे के बाद जब पुलिस ने छापेमारी की थी तो कार्यालय से जिन्ना की तस्वीर बरामद हुई थी।

उधर, कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल और प्रदेश प्रवक्ता हरखू झा ने गिरिराज सिंह के बयान पर पलटवार किया है। गोहिल ने बिना लालकृष्ण आडवाणी का नाम लिए ही कहा है कि बीजेपी के बड़े नेता ही जिन्ना के समर्थक हैं। वहीं, हरखू झा ने कहा है कि लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक शहर भोपाल से हिन्दू उग्रवादी संगठन की नेता और मालेगांव कांड की आरोपी प्रज्ञा को उम्मीदवार बनाकर लोकतंत्र के मंदिर लोकसभा में पहुंचाने वाली बीजेपी पहले अपनी गिरेबां झांके। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथुराम गोडसे को अपना आदर्श मानने वाले बीजेपी नेताओं को बेबुनियाद आरोप लगाने का हक नही हैं।इस बीच जाले से कांग्रेस के टिकट के दावेदार रहे ऋषि मिश्रा ने फिर से विचार कर जिन्नावादी की जगह गांधीवादी को टिकट देने की मांग की है।

;

-sponsored-

Comments are closed.