By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

निर्वाचन आयोग की टीम ने पटना में राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ की चुनाव पर चर्चा

;

- sponsored -

विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर बुधवार को पटना में चुनाव आयोग की टीम ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। इस दौरान भाजपा, जदयू, लोजपा समेत सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने अपने-अपने सुझाव दिये।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, पटना: विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर बुधवार को पटना में चुनाव आयोग की टीम ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। इस दौरान भाजपा, जदयू, लोजपा समेत सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने अपने-अपने सुझाव दिये। जदयू ने कहा कि चुनावी सभाओं में सीमित भीड़ को लेकर राजनीतिक पार्टियों में संशय है। जहां पर सभा होनी है वहां अगर ज्यादा भीड़ हो जाती है तो उसे कैसे रोका जाये। 80 साल से ज्यादा बुजुर्गों को बैलेट पेपर से चुनाव के लिए 12डी का फॉर्म चुनाव से तीन दिन पहले आयोग के कर्मचारी खुद घर जाकर भरवाएं ताकि अधिक से अधिक मतदान हो सके। एक और सुझाव दिया गया है कि समय पर पर्चा बीएओ के पास पहुंचा दिया जाये ताकि वोटरों को परेशानी न हो। लोजपा ने चुनाव आयोग को सलाह दी कि इस विधानसभा चुनाव में पंचायत चुनाव की तर्ज पर 500 लोगों पर एक बूथ बनायी जाये। रालोसपा ने अतिसंवेदनशील बूथों पर कमजोर वर्ग के वोटरों का मुद्दा उठाया। कहा, ऐसी व्यवस्था हो कि बूथों पर कमजोर वर्ग के वोटरों को कोई परेशानी नहीं हो। कांग्रेस नेता ब्रजेश मनन ने कहा कि हर 10 बूथ पर एक मेडिकल टीम हो।

विधानसभा चुनाव तैयारियों की समीक्षा के लिए चुनाव आयोग की टीम तीन दिवसीय बिहार दौरे पर 29 सितम्बर की शाम पटना पहुंची। आयोग की टीम ने पटना पहुंचने ही बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास और पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के नेतृत्व में चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा और राजीव कुमार, आयोग के सेक्रेटरी जनरल उमेश सिन्हा, उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन, चंद्र भूषण कुमार, आशीष कुंद्रा, एडिशनल डायरेक्टर जनरल पीआईबी शेफाली बी शरण, शरत चंद्रा, पंकज श्रीवास्तव टीम में शामिल हैं।

मालूम हो कि बिहार में 3 चरणों में चुनाव होना है। पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर, दूसरे चरण का चुनाव 3 नवंबर और अंतिम चरण का चुनाव 7 नवंबर को होना है। वहीं मतगणना 10 नवंबर को होगा।जानकारी हो कि पहले चरण में 71 सीटों पर चुनाव होगा और दूसरे चरण में 94 सीटों पर और तीसरे चरण 78 सीटों पर चुनाव होगा।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 24 घंटे पहले नाव परिचालन पर लगे रोकः भाजपा

भाजपा ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने का सुझाव दिया। कहा, बाढ़ प्रभावित इलाकों के लोगों का वोट धनबल से प्रभावित नहीं हो इसलिए मतदान से 24 घंटे पहले इन इलाकों में नाव परिचालन पर रोक लगायी जाये। बैठक में आये पार्टी के प्रदेश महामंत्री जनक राम ने कोरोना से बचाव को लेकर मतदाताओं को अधिक अधिक सहूलियत मुहैया कराने का अनुरोध किया।

सत्ताधारी दलों से अधिकारियों के व्यक्तिगत संबंध, उन पर नजर रखे आयोगः राजद

चुनाव आयोग के साथ हुई बैठक में राजद ने कहा कि सभी मतदाताओं का बीमा कराया जाए। मतदान के दौरान यदि कोई मतदाता कोरोना संक्रमित हो जाता है तो उसकी इलाज की व्यवस्था सरकारी स्तर पर की जाये। राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने मतदान सुबह 7 से शाम 7 बजे तक 12 घंटे करने की मांग की। कहा, कई अधिकारियों के व्यक्तिगत संबंध सत्ताधारी दल से हैं। निष्पक्ष चुनाव के लिए उन अधिकारियों पर पैनी नजर रखने की जरूरत है। प्रचार के दौरान अचानक ज्यादा भीड़ पहुंचने पर पार्टियों पर मुकदमा दर्ज अगर होता है तो यह ठीक नहीं होगा। इसके साथ ही चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर गहरी नजर रखी जाए ताकि चुनाव में दुष्प्रचार और सांप्रदायिकता भड़काने से रोका जा सके। इसके अलावा आदर्श आचार संहिता के पालन और चुनाव प्रचार को लेकर कोरोना गाइड लाइन सुधार के सुझाव दिए।

16 हजार बूथों पर है पानी, नहीं पहुंच पाएंगे लोगः पप्पू यादव

जाप अध्‍यक्ष और बिहार में बने तीसरे मोर्चे पीडीए (प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक एलाएंस) के संयोजक पप्पू यादव ने राज्य सरकार पर चुनाव आयोग से बहुत सारी बातें छिपाने का आरोप लगाया। कहा, 16 जिलों के दो हजार बूथों पर पानी है। अगर वहां पानी सूख भी जाए तो इतना कीचड़ रहेगा कि वोट देना मुश्किल होगा। इस कारण 20 लाख से अधिक लोग मतदान से वंचित हो सकते हैं। सरकार ने ऐसी खराब व्यवस्था की है कि बुजुर्ग और विकलांगों को वोट देने में परेशानी होगी।

एक अक्टूबर को गया में होगी 16 जिलों की बैठक

एक अक्टूबर की सुबह साढ़े 10 बजे से दोपहर एक बजे तक चुनाव आयोग की विशेष टीम गया में 12 जिलों के डीएम और एसपी के साथ बैठक करेगी। दोपहर बाद आयोग की टीम पटना में मुख्य सचिव के साथ डीजीपी के साथ पुलिस आला अधिकारियों ऑफिसर के साथ बैठक करेगी। इसमें चुनाव को लेकर पूरी रणनीति तय की जाएगी।

;

-sponsored-

Comments are closed.