By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

रात के अंधेरे में 15 फीट का किंग कोबरा घर में घुसा

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व इलाके के एक घर से बेहद भयानक किंग कोबरा सांप निकलने से पूरे इलाके  में अफरा- तफरी मच गई. खबर के मुताबिक, सांप की लंबाई 15 फीट बताई जा रही हैं. जहरीला कोबरा निकलने से घर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया गया था.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव: बिहार के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व इलाके के एक घर से बेहद भयानक किंग कोबरा सांप निकलने से पूरे इलाके  में अफरा- तफरी मच गई. खबर के मुताबिक, सांप की लंबाई 15 फीट बताई जा रही हैं. जहरीला कोबरा निकलने से घर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया गया था. परिवार के लोगों ने किसी तरह जान बचा कर घर से बाहर निकले और वन विभाग को इसकी सूचना दी.

वन विभाग से  पांच स्नेक कैचर सांप को रेस्क्यू करने पहुंचे लेकिन स्नेक कैचर को भी मशक्कत करना पड़ा. वाइल्डलाइफ की एक्सपर्ट टीम ने काफी जद्दोजहद और कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार सांप को काबू किया. इस कोबरा सांप को रेस्क्यूकरने के बाद फिर से वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में ही छोड़ दिया गया. वाल्मीकि टाइगर रिजर्व वन प्रमंडल 2 के वाल्मीकि नगर क्षेत्र से सटे रिहायशी क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से लगतार मुसलाधार बारिश हो रही है.

एक तरफ बारिश और दूसरी तरफ भीषण गर्मी से यह सांप निकल कर वाल्मीकि नगर सिंचाई विभाग के ई-टाइप कॉलोनी निवासी सत्यनारायण चौधरी के घर में घुस गया. 15 फीट लंबा किंगकोबरा सांप के घर में घुस जाने के बाद अफरा-तफरी का माहौला पैदा हो गया. आनन-फानन में ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना वन क्षेत्र कार्यालय को दी गई. रेंजर महेश प्रसाद ने तत्काल वन कर्मियों की टीम को वनपाल प्रभाकर सिंह के नेतृत्व में घटनास्थल की तरफ रवाना किया.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

जहां वन कर्मियों ने वनपाल के नेतृत्व में घंटों की मशक्कत के बाद सांप रेस्क्यु किया. विषैले किंग कोबरा को सुरक्षित पकड़ने में सफलता प्राप्त कर ली गई. बाद में वन कर्मियों ने किंग कोबरा को जटाशंकर वन क्षेत्र में सुरक्षित छोड़ दिया. इस मामले में पूछे जाने पर वाल्मीकि नगर रेंजर महेश प्रसाद ने बताया कि वन क्षेत्र से रिहायशी क्षेत्र सटे हुए हैं, इस कारण कभी कभार वन्य जीव रास्ता भटककर रिहायशी क्षेत्र में आ जाते हैं. वन विभाग ने ग्रामीणों से अपील कि हैं सतर्क और सजग रहें.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.