By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कैंसर अस्पताल में 50 प्रतिशत मरीजों का नि:शुल्क इलाज होगा : स्वास्थ्य मंत्री

Above Post Content

- sponsored -

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने विधानसभा में शुक्रवार को कहा कि राज्य में टाटा ट्रस्ट की ओर से 302 बेड का कैंसर अस्पताल रांची के कांके स्थित रिनपास परिसर में खोला जा रहा है।

Below Featured Image

-sponsored-

कैंसर अस्पताल में 50 प्रतिशत मरीजों का नि:शुल्क इलाज होगा : स्वास्थ्य मंत्री

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने विधानसभा में शुक्रवार को कहा कि राज्य में टाटा ट्रस्ट की ओर से 302 बेड का कैंसर अस्पताल रांची के कांके स्थित रिनपास परिसर में खोला जा रहा है। चंद्रवंशी ने झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातंत्रिक) के प्रदीप यादव के एक अल्पसूचित प्रश्न के उत्तर में सदन में कहा कि इस अस्पताल में 50 प्रतिशत बेड झारखंड के कैंसर रोगियों के लिए आरक्षित होगा। उन्होंने कहा कि मरीजों का नि:शुल्क इलाज हो इस बात को लेकर सरकार सहमत है और इसी अनुरूप समझौते को मूर्त रूप देने की कोशिश की जाएगी। इससे पहले यादव ने कहा कि इस कैंसर अस्पताल के लिए राज्य सरकार की ओर से करीब 24 एकड़ भूमि टाटा को नि:शुल्क उपलब्ध करायी जा रही है और इससे जनता को क्या लाभ मिलेगा यह उन्हें बताना चाहिए। उन्होंने कहा कि 2005 में टाटा लीज नवीनीकरण के समय टाटा के साथ राज्य सरकार का समझौता हुआ था , जिसके तहत टाटा कंपनी 25 करोड रूपये की राशि प्रतिवर्ष राज्य के बीपीएल परिवारों को स्वास्थ्य बीमा के लिए राज्य सरकार को 30 वर्षों तक देने की बात कही थी, लेकिन तब से अब तक कितनी राशि दी गयी इसे सरकार को बताना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा मान वित्तीय वर्ष में टाटा कंपनी ने 25 करोड रूपये की राशि दी है। इस पर यादव ने कहा कि तीन सौ 25 करोड की राशि टाटा पर बनती है और उसने केवल 25 करोड रूपये की राशि दी है। राज्य सरकार बची राशि को कब वसूलेगी। इसे बताना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार के संज्ञान में यह बात आयी है और राज्य सरकार इस मामले को देखेगी। यादव ने कहा कि राज्य सरकार पहले एकरारनामे के तहत राशि वसूलने में विफल रही है। इसलिए इस बार नि:शुल्क कैंसर अस्पताल के लिए टाटा को जमीन देना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि टाटा से जमीन की कीमत ली जानी चाहिए अन्यथा वह झारखंड के मरीजों का नि:शुल्क इलाज करें। उन्होंने कहा कि कैंसर अस्पताल में राज्य का कोटा भी 50 प्रतिशत है और शेष 50 प्रतिशत में भी अगर राज्य के कैंसर मरीज आते हैं, तो उन्हें प्राथमिकता मिलनी चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 50 प्रतिशत बेड झारखंड के रोगी के लिए रिजर्व है और इसके अलावा भी जरूरत पडने पर यहां के रोगी का इलाज कैंसर अस्पताल में होगा। भाकपा माले के राजकुमार यादव के एक अन्य अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में राज्य की कल्याण मंत्री लुइस मरांडी ने कहा कि झारखंड में राज्य अल्संख्यक वित्त एवं विकास निगम कार्यरत हैं और इससे कई लोगों को आर्थिक सहायता मिल रही है। उन्होंने कहा कि उर्दू अकादमी बनाने का काम राज्य में होगा। मासस अरूप चटर्जी के एक अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में राज्य के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री अमर कुमार बाउरी ने कहा कि कोयला खनन क्षेत्र में रयैतों का भूमि का अधिग्रहण करने के बाद जिनका अभी तक कोयला कंपनियों ने रजिस्ट्री नहीं करायी है वैसे जमीनों का रजिस्ट्री कराते समय आज के दर पर मुआवजा मिलेगा और यह मुआवजा भूमि अधिग्रहण कानून 2015 के तहत मिलेगा। भाजपा के राधाकृष्ण किशोर के अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि राज्य के शिशु कुपोषण दर को कम करने की दिशा में अनेक प्रयास किये गये हैं। उन्होंने कहा कि शिशु रक्त की कमी (एनिमिया ) के कारण से होने वाली बीमारियों से भी बचाव के लिए प्रयास किये जा रहे हैं और बच्चों को सही पोषण मिले इसकी व्यवस्था की जा रही है। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के जय प्रकाश भाई पटेल एवं कुणाल षांडगी तथा कांग्रेस की निर्मला देवी के कार्य स्थगन प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया और कहा कि बजट सत्र के दौरान ये सारी बातें उठाने का उन्हें समय मिलेगा और सरकार इसपर अपना जवाब देगी।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.