City Post Live
NEWS 24x7

रोहतास : बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस दो की हिस्सा बनी 525 युवा महिलाएं, मिला पुरस्कार

महिला सिपाहियों को दी गर्ई अनुशासन और कार्य के प्रति समर्पण की शिक्षा

-sponsored-

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : डेहरी स्थित बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस  दो परिसर में पासिंग आउट परेड का आयोजन गुरुवार को किया गया. इस दौरान बिहार की होनहार 525 युवा महिलाएं बिहार पुलिस में अंतिम रूप से शामिल हुई. दीक्षांत समारोह के दौरान आयोजित परेड की सलामी बीएसएसबी के आईजी ने ली. कार्यक्रम की शुरूआत राष्ट्रीय गान वंदे मातरम से हुई. इस दौरान आईजी प्रशिक्षण विजय कुमार वर्मा ने कहा कि अनुशासन, कर्तव्यनिष्ठा और आम लोगों की सुरक्षा का दावित्य होनहार महिला सिपाहियों को मिला है. इस प्रशिक्षण के बाद वो इसके लिए कार्य कर राष्ट्र के लिए समर्पित भाव से करती रहेंगी. उन्होंने कहा कि बीएसएसबी का इतिहास गौरवशाली रहा है. उन्होंने सलामी गारद का निरीक्षण करने के बाद दीक्षांत परेड की सलामी भी.

इसके साथ ही प्रशिक्षण के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाली प्रशिक्षुओं को प्रशस्ति प्रमाण पत्र भी दिया. उन्होंने कहा कि वर्तमान दौर में बदलते समय को देखते हुए एक साल तल लगातार प्रशिक्षण देकर तैयार किया गया है. उन्होंने बताया कि इन महिला सिपाहियों के लिए विशेष तौर पर सिलेबस तैयार किया गया था. जिसमें साइबर अपराध, महिला के खिलाफ हिंसा के अलावा पॉक्सों एक्ट भी शामिल रहा.    बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस दो के कमांडेंट स्वप्ना जी मेश्राम ने कार्यक्रम की शुरूआत में सभी अतिथियों को बुके देकर स्वागत किया. इसके साथ ही पारण परे़ड शामिल सिपाहियों को सपथ भी दिलाई गई. कार्यक्रम के दौरान शाहाबाद प्रक्षेत्र के डीआईजी उपेंद्र कुमार शर्मा, रोहतास एसपी आशीष भारती, सार्जेंट मेजर रामाकांत प्रसाद, डीएसपी जयप्रकाश चौधरी मौजूद थे.

डेहरी ऑन सोन के बीएमएसी दो के मैदान में महिला पुलिस कर्मियों के शपथ लेने के दौरान विहंगम दृश्य देखने को मिला. बिहार में योगदान करने वाली 525 महिला पुलिसकर्मियों को समादेष्टा स्वपन्ना जी मेश्राम ने इन सभी को आचार, नियमावली के अलावा पुलिसकर्मियों के कर्तव्य दायित्व के पालन की शपथ दिलाई.

महिला पुलिसकर्मी के सम्मानित होने पर परिजनों को देखी गई खुशी

संगम राज शऱ्मा को जैसे ही वरीय पुलिस अधिकारियों ने बेहतर प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया उनके परिजनों के चेहरे पर मुस्कान देखने को मिला. उनके माता-पिता गया से सबेरे से ही अपनी बेटी को बिहार पुलिस में शामिल होते देखने पहुंचे थे.  महिला सिपाहियों की ट्रेनिंग 216 दिनों की अवधि में पूरी हुूई. ट्रेनिंग के दौरान विशेष रूप से तैयार सिलेबस में साइबर अपराध, महिला के खिलाफ हिंसा के अलावा पॉक्सों एक्ट भी शामिल रहा. ये सभी महिला सिपाही जिला पुलिस, बिहार पुलिस सशस्त्र बल, रेलवे, आर्थिक अपराध सहित 47 अलग अलग विभागों में अपना योगदान करेंगी. पासिंग परेड के दौरान महिला सिपाही के परिजन बड़ी संख्या में मौजूद थे. सभी के चेहरे पर हर्ष का माहौल देखने को मिला. पारण परेड में शपथ लेने का नजादा देख सभी काफी खुश दिख रहे थे.

महिला प्रशिक्षुओं को किया गया पुरस्कृत.

विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने वाली महिला सिपाहियों को आईजी और अन््य पदाधिकारी ने पुरस्कृत किया. समारोह के मुख्य अतिथि आईजी विजय कुमार वर्मा ने पूरे प्रशिक्षण में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली अनुराधा कुमारी मोतिहारी जिला बल, दूसरा स्थान प्राप्त करने वाली निशा कुमारी खगड़िया रेल मुजफ्फरपुर औऱ तीसरा स्थान प्राप्त करने वाली खुशबु त्रिपाठी बिविसपु-तीन बोधगया को शील्ड प्रदान कर पुरस्कृत किया. वहीं, डीआईजी शाहाबाद रेंज उपेंद्र कुमाऱ शर्मा ने अंत विषय में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली नीतू कुमारी खगड़िया जिला बल, दूसरा पुरस्कार ममता कुमारी रेल मुजफ्फरपुर, तृतीय स्थान रीमा कुमारी अररिया जिला बल को पुरस्कृत किया.

रोहतास से विकाश चन्दन की रिपोर्ट

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.