By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सरकारी भवनों में शिफ्ट होंगे 81 आंगनबाड़ी केंद्र

;

- sponsored -

पलामू जिले में आंगनबाड़ी केंद्र में अध्ययनरत 03 से 06 आयु वर्ग के बच्चों को भी सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों की तरह सुविधा मुहैया होगी। इसके लिये किराये के मकान में संचालित हाे रहे 81 आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवनों में शिफ्ट किया जा रहा है।

-sponsored-

-sponsored-

सरकारी भवनों में शिफ्ट होंगे 81 आंगनबाड़ी केंद्र

सिटी पोस्ट लाइव, मेदिनीनगर: पलामू जिले में आंगनबाड़ी केंद्र में अध्ययनरत 03 से 06 आयु वर्ग के बच्चों को भी सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों की तरह सुविधा मुहैया होगी। इसके लिये किराये के मकान में संचालित हाे रहे 81 आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवनों में शिफ्ट किया जा रहा है। उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने किराये के मकान में चल रहे 81 आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवनों में शिफ्ट करने का निर्देश दिया है। इनमें 80 केंद्रों को खाली स्कूल भवन और एक केंद्र को पंचायत भवन में शिफ्ट करने के लिये 10 दिनों का समय दिया गया है। उपायुक्त डॉ. अग्रहरि ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवन में शिफ्ट किये जाने के कई फायदे हैं। स्कूल भवन में आंगनबाड़ी केंद्र के संचालन से बच्चों को पर्याप्त जगह मिल सकेगी। स्कूल भवन परिसर में बच्चों को प्ले ग्राउंड भी मिलेगा, जहां वे खेलकूद कर सकेंगे। किराये के मकान या कमरे में चलने से जिला प्रशासन को जो अतिरिक्त राशि खर्च करनी पड़ती थी, वह राशि बचेगी। इस राशि का इस्तेमाल बच्चों के सर्वांगीण विकास पर किया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि पलामू जिले में सबसे अधिक किराये के मकान में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवनों में शिफ्ट करने का कार्य हुआ है। पहले चरण में 294 आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी स्कूल के खाली भवनों में शिफ्ट किया जा चुका है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.