By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जोड़ प्रत्यारोपण और ऑर्थोपेडिक सर्जन के रूप में किए गए कार्यों के लिए किया गया सम्मानित

प्रसिद्ध जोड़ प्रत्यारोपण सर्जन डॉ. आशीष को मिला संजीवनी अवार्ड

HTML Code here
;

- sponsored -

प्रसिद्ध जोड़ प्रत्यारोपण सर्जन व अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ ऑर्थोपेडिक एंड रिहेबिलिटेशन के संचालक डॉ. आशीष सिंह को संजीवनी अवार्ड से नवाजा गया है। ग्लोबल ऑर्थोपेडिक फोरम ने उन्हें इस सम्मान से नवाजा है। उन्हें यह सम्मान देश-विदेश में जोड़ प्रत्यारोपण और हड्डी से संबंधित रोगों के इलाज और अपनी योग्यता से निस्वार्थ भाव से समाज के भले के लिए किए गए कार्यों के लिए दिया गया।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : प्रसिद्ध जोड़ प्रत्यारोपण सर्जन व अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ ऑर्थोपेडिक एंड रिहेबिलिटेशन के संचालक डॉ. आशीष सिंह को संजीवनी अवार्ड से नवाजा गया है। ग्लोबल ऑर्थोपेडिक फोरम ने उन्हें इस सम्मान से नवाजा है। उन्हें यह सम्मान देश-विदेश में जोड़ प्रत्यारोपण और हड्डी से संबंधित रोगों के इलाज और अपनी योग्यता से निस्वार्थ भाव से समाज के भले के लिए किए गए कार्यों के लिए दिया गया।

पटना के यारपुर स्थित अक्षत सेवा सदन में आयोजित एक कार्यक्रम में बिहार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन और सुमन सिन्हा ने उन्हें यह सम्मान दिया। सम्मान मिलने पर डॉ. आशीष सिंह ने फोरम का आभार व्यक्त किया। पत्रकारों से बातचीत के दौरान डॉ. आशीष ने कहा कि मुझे एक्सीलेंस के लिए यह अवार्ड मिला है। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तो काम कर ही रहा हूं।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

यहां भी मुझे अपने कार्यों के लिए चिन्हित किया गया और फलस्वरूप यह सम्मान मिला। इसके लिए फोरम के अधिकारियों के प्रति आभार प्रकट करता हूं। उन्होंने मुझे इस काबिल समझा। गौरतलब है कि डॉ. आशीष पूरे पूर्वोत्तर भारत के एक मात्र जोड़ प्रत्यारोपण विशेषज्ञ हैं जो रोबोट की मदद से ऑपरेशन करते हैं।

ये हर रोज चार से पांच जोड़ प्रत्यारोपण करते हैं। अब तक पांच हजार से ज्यादा जोड़ प्रत्यारोपण कर चुके हैं। इनकी पढ़ाई और ट्रेनिंग भारत, अमेरिका, जर्मनी, स्कॉटलैंड, साउथ कोरिया, स्वीडन आदि देशों में हुई है। डॉ. आशीष के पिता डॉ. आरएन सिंह भी प्रसिद्ध ऑर्थोपेडिक सर्जन हैं। उन्हें पद्मश्री से भी नवाजा जा चुका है।

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.