By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लगातार कार्रवाई के बाद भी नहीं मान रहे बालू माफिया, नदी से बालू खनन जारी

- sponsored -

रोहतास में बालू के अवैध कारोबारियों के विरुद्ध खनन विभाग व प्रशासन की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है। वहीं दूसरी ओर बालू खनन के बंदी के बाद भी लगातार नदी से बालू खनन जारी है। इस बीच बुधवार को बालू के अवैध भंडारण के विरुद्ध पुलिस प्रशासन की एक बार फिर कार्रवाई हुई।

-sponsored-

लगातार कार्रवाई के बाद भी नहीं मान रहे बालू माफिया, नदी से बालू खनन जारी

सिटी पोस्ट लाइवः रोहतास में बालू के अवैध कारोबारियों के विरुद्ध खनन विभाग व प्रशासन की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है। वहीं दूसरी ओर बालू खनन के बंदी के बाद भी लगातार नदी से बालू खनन जारी है। इस बीच बुधवार को बालू के अवैध भंडारण के विरुद्ध पुलिस प्रशासन की एक बार फिर कार्रवाई हुई। डेहरी-ऑन- सोन के हुरका में पुलिस प्रशासन व खनन विभाग के सँयुक्त अभियान के तहत बालू माफिया पर बड़ी कार्रवाई की और अवैध रूप से डंप कर रखे गए भारी मात्रा में बालू को जब्त किया। इस कार्यवाही में डेहरी अनुमंडलाधिकारी लाल ज्योति नाथ शाहदेव, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी संजय कुमार,खननं पदाधिकारी रोहतास विकास कुमार, कामख्या नारायण सिंह डेहरी, सियाराम सिंह दरिहट, थानाध्यक्षो के साथ भारी संख्या में पुलिस बल के साथ कार्रवाई की गई।

बालू को जब्त करके ट्रकों के माध्यम से प्रशासन ने बालू उठा लिया। प्रशासन की इस कार्रवाई से बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया है। इस दौरान लगभग दस हजार सीएफटी से अधिक भंडारण किए गए बालू को जब्त किया गया । गौरतलब है कि एक जुलाई से सोन नदी में बालू का उठाव बंद हो गई है। माफिया तंत्र उससे पहले ही काफी मात्रा में अवैध रूप से बिना चालान के सोन नदी से बालू खनन कर एकत्रित कर कर इन क्षेत्रों में भंडारण कर लिया हैं। अब जब खनन बंद है तो बालू का अभाव बताकर ऊंचे दामों पर दूसरे प्रांतों में भेजते हैं जिससे सरकारी राजस्व की क्षति हो रही है।

Also Read

-sponsored-

अनुमंडलाधिकारी डेहरी लाल ज्योति नाथ शाहदेव ने बताया कि दोषियों को चिन्हित कर उन सब पर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी। विदित हो कि जुलाई से सितंबर तक नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के नियम अनुसार बालू खनन पर तीन महीने तक के लिए रोक है लेकिन खनन विभाग अभी भी बालू माफिया के खिलाफ कार्रवाई में लगा हुआ है। अवैध बालू की आवाजाही बदस्तूर जारी है, साथ ही उसे अवैध रूप से भंडारण कर ट्रकों के माध्यम से दूसरे प्रांतों में भेज दिया जाता है। ज्ञातव्य हो कि डिहरी थाना क्षेत्र के डिलियां, सुअरा, पहलेजा, कोल डिपो क्षेत्र में खुलेआम सड़क किनारे प्रतिदिन ट्रैक्टर और ट्रकों से अवैध बालू की खरीद बिक्री होती है और बालू का अवैध भंडारण किया जाता है।

शिकायत के बाद डेहरी एसडीएम लाल ज्योति नाथ शाहदेव, एसडीपीओ संजय कुमार और खनन पदाधिकारी रोहतास विकास कुमार के नेतृत्व में कुछ दिन पूर्व बड़े पैमाने पर छापेमारी की गई थी । भंडारण किये गए अवैध बालू को जब्त कर उठा लिया गया थ। लेकिन सवाल वही जस का तस है कि क्या इतने बड़े पैमाने पर बालू का भंडारण हो और जिला प्रशासन को जानकारी ना हो? ऐसा कैसे हो सकता है ,जहां हजारों ट्रैक्टरों की आवाजाही हो रात में ट्रक पर जेसीबी के सहयोग से बालू लादे जाते हों पुलिस की नजर से कैसे बचा रह सकता है?

रोहतास से विकास चंदन की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.