By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार एटीएस आतंकियों से हर स्तर पर निपटने में सक्षम है : गुप्तेश्वर पांडेय

Above Post Content

- sponsored -

आईएमटी (IMT) मानेसर स्थित राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) के नेशनल बम डाटा सेंटर(National Bomb Data Center) में बुधवार को आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार(International Seminar) में भाग लेने बुधवार को बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP, Bihar) पहुंचे थे।

Below Featured Image

-sponsored-

बिहार एटीएस आतंकियों से हर स्तर पर निपटने में सक्षम है : गुप्तेश्वर पांडेय

सिटी पोस्ट लाइव : आईएमटी (IMT) मानेसर स्थित राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) के नेशनल बम डाटा सेंटर(National Bomb Data Center) में बुधवार को आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार(International Seminar) में भाग लेने बुधवार को बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP, Bihar) पहुंचे थे। एनएसजी (National Security Guard) के नेशनल बम डाटा सेंटर (National Bomb Data Center)में आयोजित इंटरनेशनल सेमिनार (International Seminar) में डीजीपी,बिहार (DGP, Bihar) गुप्तेश्वर पांडे Gupteshwar Pandey ने कहा कि आतंकवादी अपने गतिविधियों को कैसे अंजाम देते हैं, किस तरह बम ब्लास्ट करते हैं आदि की जानकारी इस सेमिनार(Seminar)के माध्यम से सामने आती है।

दुनिया के अधिकतर देश किस तरह से आतंकवाद से ग्रस्त है वे इसके खिलाफ किस तरह काम कर रहे हैं आदि इस विषयों की जानकारी भी सामने आती है। सबसे बड़ी बात यह है कि सेमिनार(Seminar)में अपने देश के सभी राज्यों की पुलिस को भी आमंत्रित किया जाता है ।इससे आगे बेहतर करने का अनुभव मिलता है। आतंकवादी गतिविधियों की कमर तोड़ने में हर स्तर पर एंटी टेररिज्म स्क्वायड (Anti-Terrorism Squad) बिहार सक्षम है । इसे अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया गया है इसके जवान हर स्तर पर प्रशिक्षित है।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

समय-समय पर इन्हें अपग्रेड किया जाता है ,ताकि किसी भी स्थिति में बेहतर तरीके से सामाना किया जा सके।  राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) के कमांडो को जिस तरह से प्रशिक्षित किया जाता है ठीक उसी तरह से आतंकवाद निरोधक दस्ता (Anti-Terrorism Squad) के जवानों को भी प्रशिक्षित करने का प्रयास होता है। सेमिनार(Seminar) से मिलता है बेहतर करने का अनुभव । साथ ही उन्हों ने बताया कि फिलहाल बिहार में आतंकवादी गतिविधि नही है। ए टीस (Anti-Terrorism Squad ) के साथ बिहार की पुलिस आतंकवाद के मामले में जीरो टॉलरेंस(Zero Tollrence) की नीति चल रही है ।

सभी को निर्देश है कि जिसे सूचना मिले वह तत्काल प्रभाव से एक दूसरे से शेयर करें। सिस्टम(System) को बेहतर बनाने के लिए सूचनाओं का आदान-प्रदान पर जोर देना आवश्यक होता है। इस दिशा में बिहार में काफी काम किया गया है। देश के सभी राज्यों के पुलिस के साथ भी बेहतर संवाद है।माहौल को बेहतर बनाने के लिए जमीनी स्तर पर भी पूरी तरह से शराबबंदी दिखे। विदित हो कि पुलिस महानिदेशक,बिहार (DGP,Bihar) गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) शराब बंदी को लेकर गांव-गांव जाकर चौपाल लगा रहे हैं वह डीजीपी (DGP) बनने के पहले भी इसके लिए 150 से अधिक सभाएं कर चुके हैं।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.