By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मुजफ्फरपुर नरकंकाल मामले में बड़ा खुलासा : सीएम के एसकेएमसीएच पहुंचने से पहले जलाए गये शव

;

- sponsored -

मुजफ्फरपुर के जिस एसकेएमसीएच से लगातार यह खबरें आती रही हैं कि वहां चमकी बुखार की वजह से बच्चे लगातार दम तोड़ रहे हैं और कई बच्चे जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं, उसी एसकेएमसीएच अस्पताल से यह खबर भी सामने आयी थी कि उसके परिसर में नरकंकाल मिले हैं।

-sponsored-

-sponsored-

मुजफ्फरपुर नरकंकाल मामले में बड़ा खुलासाः सीएम के एसकेएमसीएच पहुंचने से पहले जलाए गये शव

सिटी पोस्ट लाइवः मुजफ्फरपुर के जिस एसकेएमसीएच से लगातार यह खबरें आती रही हैं कि वहां चमकी बुखार की वजह से बच्चे लगातार दम तोड़ रहे हैं और कई बच्चे जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं, उसी एसकेएमसीएच अस्पताल से यह खबर भी सामने आयी थी कि उसके परिसर में नरकंकाल मिले हैं। एसकेएमसीएच परिसर में नरकंकाल मिलने के मामले में बड़ी बात सामने आ रही है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस मामले के सामने आने के बाद अस्पताल प्रशासन और पुलिस के हाथ-पांव फूल गए थे. आनन-फानन में मामले की जांच के आदेश दिए गए. जांच में अब चैंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं.

अब तक हुई जांच में यह बात सामने आई है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पिछले हफ्ते जाने से पहले लावारिश पड़ी लाशों को अस्पताल प्रशासन ने जला दिया था. एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम यानी चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौत का जायजा लेने के लिए सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी एसकेएमसीएच पहुंचे थे. इसी अस्पताल में सबसे ज्यादा बच्चों की जान गई थी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, इस पूरे प्रकरण में अस्पताल प्रशासन और इलाके की पुलिस को जिम्मेदार माना जा रहा है. लावारिश लाशों को अस्पताल प्रशासन के लोग अंतिम संस्कार के लिए देने की बजाय अस्पताल के पीछे खाली पड़े जगह में फेंक देते थे.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.