By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे पर फर्जी डिग्री के आरोप में मामला दर्ज

;

- sponsored -

भाजपा के गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे पर एक और मामला दर्ज हुआ है। मामला देवघर के नगर थाने में दर्ज कराया गया है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: भाजपा के गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे पर एक और मामला दर्ज हुआ है। मामला देवघर के नगर थाने में दर्ज कराया गया है। शिकायतकर्ता विष्णुकांत झा ने आवेदन देकर सांसद निशिकांत के फर्जी डिग्री होने की शिकायत की थी। जिसके बाद यह मामला दर्ज किया गया है। मामला दर्ज होने की पुष्टि शुक्रवार को देवघर नगर थाना के प्रभारी ने की। शिकायतकर्ता झा ने आवेदन में कहा है कि 28 जुलाई को झारखंड मुक्ति मोर्चा के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ, जिसमें निशिकांत दुबे पर दिल्ली विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री लेने संबंधी बातों का उल्लेख है।
जेएमएम की तरफ से कहा गया है कि उनकी डिग्री फर्जी है। जिसे दिल्ली विश्वविद्यालय ने पुख्ता किया है। आगे लिखा गया है कि सांसद निशिकांत दुबे अपनी चुनावी सभाओं में अपने आपको दिल्ली विश्वविद्यालय से पासआउट बताते हैं और लोगों को भरोसा दिलाते हैं कि उनकी बड़ी-बड़ी कंपनियों में पैठ है। वो लोगों को रोजगार दिला सकते हैं। ऐसा कहना एक भ्रामक चुनावी घोषणा है। जिससे जनता ठगी जाती है। निशिकांत दुबे और उनकी पत्नी अनामिका गौतम पर अलग-अलग मामलों में अभी तक चार एफआइआर दर्ज हो चुके हैं। इनमें से तीन एफआइआर के शिकायतकर्ता विष्णुकांत झा हैं और एक एफआइआर देवघर निवासी शशि सिंह की पत्नी किरण सिंह ने दर्ज करायी है। दो मामले जो सांसद की पत्नी अनामिका पर दर्ज हैं वो देवघर के एलओकेसी धाम में पैसे को लेकर गड़बड़ी का है। वहीं एक एफआइआर देवघर में शिवधाम नाम की प्रॉपर्टी को लेकर हुआ है। इस प्रॉपर्टी में जमीन खरीद-बिक्री को लेकर आरोप लगाये गये हैं। वहीं चौथा एफआइआर सांसद निशिकांत दुबे पर फर्जी सर्टिफिकेट के मामले को लेकर हुआ है।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने देवघर के पुलिस अधीक्षक पीयूष पांडेय को किया तलब
गोड्डा सांसद डा. निशिकांत दुबे की शिकायत पर लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने देवघर के पुलिस अधीक्षक पीयूष पांडेय को तलब किया है। उन्हें आठ सितंबर को विशेषाधिकार समिति के समक्ष उपस्थित होने को कहा गया है। सांसद ने बीते 16 जुलाई को विशेषाधिकार हनन की नोटिस लोकसभा सचिवालय को सौंपी थी। लोकसभा सचिवालय ने केंद्रीय गृहमंत्रालय को भी इस संबंध में सूचित किया है। राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह और गृह विभाग के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का को भी पुलिस अधीक्षक को तलब किए जाने वाले नोटिस की कॉपी दी गई है। उल्लेखनीय है कि सांसद का आरोप है कि उनकी मानहानि की जा रही है। सरकारी मिशनरी का दुरुपयोग उनको और उनके परिवार को तंग किया जा रहा है। उनके खिलाफ गलत तरीके से मुकदमे किए जा रहे हैं।
;

-sponsored-

Comments are closed.