By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर छत्तीसगढ़ अंतरप्रांतीय सीमा सील

;

- sponsored -

देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए भारत सरकार द्वारा 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया गया है। भारत सरकार ने सभी अंतरप्रांतीय सीमा से आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए अंतरप्रांतीय सीमा सील करने का निर्देश दिया है।

-sponsored-

-sponsored-

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर छत्तीसगढ़ अंतरप्रांतीय सीमा सील

सिटी पोस्ट लाइव, गुमला: देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए भारत सरकार द्वारा 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया गया है। भारत सरकार ने सभी अंतरप्रांतीय सीमा से आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए अंतरप्रांतीय सीमा सील करने का निर्देश दिया है। साथ ही अंतर जिला सीमा को भी बंद करने का निर्देश दिया गया है। उक्त निर्देश के आलोक में आज उपायुक्त शशि रंजन ने झारखंड – छत्तीसगढ़ अंतरप्रांतीय सीमा मांझाटोली का भ्रमण कर इस सीमा को अगले आदेश तक के लिए सील कर दिया। उपायुक्त ने सीमा क्षेत्र से केवल अति आवश्यक मालवाहक वाहन जिसमें आम जनता के खाद्यान्न एवं दैनिक आवश्यकताओं के सामान लाए जा रहे हैं, वैसे वाहनों को ही अंतरप्रांतीय सीमा से गुजरने की अनुमति देने का निदेश दिया। उपायुक्त ने आज मांझाटोली स्थित कौशल विकास केन्द्र में बनाएं गए 70 बेड के क्वारंटाईन सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने इस केन्द्र में साफ-सफाई, पानी, बिजली, शौचालय की उत्तम व्यवस्था का निर्देश दिया। उपायुक्त ने नवागढ़ पंचायत रायडीह के क्वारंटाईन केन्द्र में उपस्थित 7 व्यक्तियों से मुलाकात कर उनसे उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की तथा वहां पर भोजन के लिए की गई व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किया। उपायुक्त ने शीघ्र ही सभी प्रखंडों  में सामुदायिक रसोई घर की भी व्यवस्था करने का निर्देश दिया तथा क्वारंटाईन केन्द्र में रखें गए प्रभावितों को 14 दिनों तक निगरानी रखने का निदेश दिया। इस अवसर पर उपायुक्त शशि रंजन सहित उप विकास आयुक्त हरि कुमार केशरी, सहायक समाहर्ता सह सहायक दण्डाधिकारी मनीष कुमार, स्थापना उप समाहर्ता  विद्या भूषण, कार्यपालक अभियंता भवन प्रमण्डल, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी  मिथिलेश सिंह, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी चैनपुर, अंचलाधिकारी रायडीह आदि उपस्थित थे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.