By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रांची में किया अटल क्लिनिक का शुभारंभ

आयुष्मान भारत नहीं होता तो झारखंड के गरीबों की जेब से जाता 206 करोड़

- sponsored -

0

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रयत्न से ही परिवर्तन होता है। यही प्रयत्न राज्य सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में करना चाहती है। शहरी क्षेत्र में झुग्गी बस्ती में निवास करनेवाले लोगों को प्रारंभिक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आज को पूरे राज्य में 25 अटल क्लिनिक का शुभारंभ किया जा रहा है।

Below Featured Image

-sponsored-

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रांची में किया अटल क्लिनिक का शुभारंभ
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रयत्न से ही परिवर्तन होता है। यही प्रयत्न राज्य सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में करना चाहती है। शहरी क्षेत्र में झुग्गी बस्ती में निवास करनेवाले लोगों को प्रारंभिक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आज को पूरे राज्य में 25 अटल क्लिनिक का शुभारंभ किया जा रहा है। 25 सितंबर तक करीब 100 अटल क्लिनिक चरणबद्ध तरीके से प्रारंभ करने की योजना पर सरकार काम कर रही है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री दास रांची के मोरहाबादी स्थित एदलहातु सामुदायिक भवन में अटल क्लिनिक योजना के शुभारंभ पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि 25 सितंबर तक झाऱखंड के सवा तीन करोड़ लोगों में से सभी अहर्ता रखने वालों को आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित है। आयुष्मान भारत आज राज्य के गरीबों के लिए वरदान साबित हो रहा। सरकार ने लाभुकों को स्वास्थ्य लाभ देने के लिए अबतक 206 करोड़ रुपये उनकी बीमारी पर खर्च कर 10 माह में 2 लाख 27 हजार जरूरतमंदों का इलाज सुनिश्चित किया। अगर यह योजना नहीं होती तो इलाज पर गरीबों का 2 करोड़ 25 लाख रुपये उनकी बीमारी में खर्च हो जाता। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिविल सर्जन हर दिन कम से कम एक अटल क्लिनिक का निरीक्षण करेंगे। योजना प्रारम्भ करने की वजह गरीब लोगों को गंभीर बीमारी से बचाना है। अटल क्लिनिक में जरूरतमंद लोग मुफ्त में अपना प्रारंभिक इलाज करा सकेंगे। ताकि लापरवाही में उनकी छोटी बीमारी गंभीर रूप न ले। मुख्यमंत्री ने कहा कि यूएनडीपी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि दुनिया में झारखंड दूसरा ऐसा राज्य है जो तेजी से गरीबी रेखा से ऊपर आ रहा है। साथ ही राज्य के लोगों की क्रय शक्ति में भी वृद्धि हुई है। झारखंड में पेट्रोल और डीजल की खपत में 15 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है। ऐसे में कहा जा सकता है कि लोगों की क्रय शक्ति बढ़ी है। उन्होंने कहा कि राज्य की महिलाओं को आर्थिक स्वावलंबन प्रदान करने के उद्देश्य से सखी मंडल की महिलाओं को रेडी टू ईट के संचालन की जिम्मेवारी सौंपी जाएगी। इसके लिए रामगढ़ में पायलट प्रोजेक्ट के तहत रामगढ़ में 2 करोड़ की लागत से रेडी टू ईट यूनिट प्रारम्भ की जा रही है। यह योजना सफल रही तो राज्य के सभी प्रखंड में योजना को धरातल पर उतारा जाएगा।
Also Read

-sponsored-

हर क्षेत्र में हो रहा है कार्यः सीपी सिंह
नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि सरकार हर क्षेत्र में काम कर रही है। आयुष्मान भारत योजना का लाभ लोग ले रहे हैं। हर जरूरतमंद को गोल्डन कार्ड आयुष्मान भारत योजना के तहत दिये जा रहे हैं। अटल क्लिनिक भी गरीब और जरूरतमंद लोगों के इलाज में सहायक होगा। यहां दवा भी मुफ्त मिलेगी। आयुष्मान भारत योजना के तहत कुछ निजी अस्पताल इलाज करने में अनाकानी कर रहे हैं, सरकार इस तरह की शिकायतों पर ध्यान दे रही है।
रैबीज की दवा भी उपलब्ध होगी : संजय सेठ
रांची सांसद संजय सेठ ने कहा कि अस्पताल आपके द्वार का शुभारंभ हो रहा है। यह जरूरतमंदों के इलाज में सहायक होगा। आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड सभी जरूरतमंदों को मिल सके यह सरकार सुनिश्चित कर रही है। इस मौके पर मेयर आशा लकड़ा और स्वास्थ्य सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सांकेतिक तौर पर तब्बसुम परवीन, संदीप दास, ज्योत्सना देवी, सुधा देवी, सुशीला देवी, नमिता देवी, रजनी प्रिया को आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराया। कार्यक्रम में उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय, सचिव नगर विकास विभाग अजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त मनोज कुमार व अन्य उपस्थित थे।

-sponsered-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

-sponsored-

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More