By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दीनदयाल उपाध्याय उच्च विचार के प्रतीक थे : सीपी सिंह

;

- sponsored -

राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय उच्च विचार के प्रतीक थे। साथ ही एक कुशल संगठनकर्ता, पत्रकार एवं उच्च कोटि के लेखक भी थे।

-sponsored-

-sponsored-

दीनदयाल उपाध्याय उच्च विचार के प्रतीक थे : सीपी सिंह

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय उच्च विचार के प्रतीक थे। साथ ही एक कुशल संगठनकर्ता, पत्रकार एवं उच्च कोटि के लेखक भी थे। सिंह सोमवार को भाजपा प्रबुद्ध प्रकोष्ट झारखण्ड प्रदेश के तत्वाधान में डिप्टीपाड़ा स्थित विधायक आवास में आयोजित पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर बोल रहे थे। सिंह ने मौके पर कार्यकताओं को उनके बताये गये रास्ते पर चलने का अह्वान किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक सत्येन्द्र कुमार मल्लिक ने की। मौके पर रांची विश्वविद्यालय के कुल सचिव अमर कुमार चौधरी सहित अन्य ने उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्वलित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया। अमर कुमार चौधरी ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय को आजादी के समय से ही यह एहसास हो गया था कि राष्ट्र अपनी संस्कृति, सभ्यता के पथ से विमुख होकर दिशाविहिन हो चुका है। अतः उन्होंने राष्ट्र को सर्वोपरी मानकर इसके उत्थान के लिए उन्होंने भारती जीवन दर्शन को राष्ट्रवाद से जोड़कर भारतीय राजनिति में इसका समावेश किया। इस मौके पर भारत विकास परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष पीके सिन्हा ने दीनदयाल उपाध्याय के बारे में विस्तार से उनके जीवन दर्शन की चर्चा की एवं प्रबुद्धजनों से अपील किया की समाज के वंचित लोगों तक उनके जीवन दर्शन के माध्यम से समाज की सेवा करें। इस अवसर पर सचिदानंद खलखो, सतीश महतो, समीर चौधरी, केदान नाथ भुदानी, प्रद्युमन पाण्डेय आदि उपस्थित थे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.