By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

देवघर डीसी ने महाशिवरात्रि की तैयारियों के लिए दिए दिशा-निर्देश

HTML Code here
;

- sponsored -

उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में महाशिवरात्रि के मद्देनजर समाहरणालय सभागार में बैठक हुई। इस दौरान स्वास्थ्य सुरक्षा, श्रद्धालुओं की सुविधा, ट्रैफिक एवं सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

-sponsored-

देवघर : उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में महाशिवरात्रि के मद्देनजर समाहरणालय सभागार में बैठक हुई। इस दौरान स्वास्थ्य सुरक्षा, श्रद्धालुओं की सुविधा, ट्रैफिक एवं सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

डीसी ने पेयजल व्यवस्था को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि मंदिर के आसपास क्षेत्रों के अलावा सम्पूर्ण रूट लाईन में सुचारू रूप से पेयजलापूर्ति होती रहे इसे पूर्ण रूप से सुनिश्चित करा लें। साथ ही शिवगंगा सरोवर, मानसरोवर के चारों ओर फुट ओवर ब्रीज, नेहरू पार्क एवं रूट लाईन की समुचित सफाई बैरिकेटिंग कराने का निदेश भी नगर निगम के अधिकारियों को दिया गया।

 

उपायुक्त ने कार्यपालक अभियन्ता विद्युत आपूर्ति प्रमंडल को महाशिवरात्रि के अवसर पर निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ 22 मंदिरों, शिव बारात रूट लाईन एवं मंदिर के आस-पास बिजली व्यवस्था को पूरी तरह से सुदृढ़ करने का निर्देश उपायुक्त ने दिया। साथ ही बिजली व्यवस्था को सुचारू रखने के उदेश्य से कन्ट्रोल रूम और क्यू आर टी टीम का गठन कर ससमय इसे एक्टिव करने का निदेश दिया गया। डीसी ने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि सुबह 06 बजे से संध्या 04 बजे तक दो-दो घन्टे के स्लॉट अनुरूप शीघ्र दर्शनम कूपन की व्यवस्था सुनिश्चित करें, ताकि श्रद्धालुओं को इस वजह से समस्या का सामना न करना पड़े। साथ ही शिवरात्रि के दिन पूर्व ही शीघ्र दर्शनम कूपन की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

उपायुक्त ने रूट लाईन व मंदिर के आसपास के क्षेत्रों में सूचना केन्द्र स्थापित करने व चलंत सूचना केन्द्र को एक्टिव रखने का निर्देश दिया। साथ ही रूट लाईन को नियंत्रित करने के लिए बीएड काॅलेज में मजबूत स्पाईरल के अलावा रूट लाईन के खुले भाग को बेरिकेटिंग द्वारा सुरक्षित कराने का निर्णय किया गया। श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए उपायुक्त ने शिवगंगा सरोवर में एनडीआरएफ की टीम को तैनात करने का निर्देश दिया।

स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखने के उद्देश्य से उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को बाबा मंदिर उप स्वास्थ्य केंद्र, सदर अस्पताल के साथ अतिरिक्त एम्बुलेंस, क्यूआरटी टीम, चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों की प्रतिनियुक्ति का निर्देश दिया।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.