By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिगड़ैल पुलिस वालों को सुधारने के लिए डीजीपी ने जारी किया है आदेश, अब बहुत कुछ बैन होगा

- sponsored -

बिहार के पुलिस मुख्यालय में तैनात पुलिसकर्मियों और अधिकारियों कारगुजारियों ने आमलोगों की कौन कहे सूबे के पुलिस महानिदेशक को त्रस्त कर दिया है. अपने ही कार्यालय में तैनात पुलिसवालों को रास्ते पर लाने के लिए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को लगातार कई आदेश निकालना पड़ा है.

-sponsored-

बिगड़ैल पुलिस वालों को सुधारने के लिए डीजीपी ने जारी किया है आदेश,  अब बहुत कुछ बैन होगा

सिटी पोस्ट लाइवः -बिहार के पुलिस मुख्यालय में तैनात पुलिसकर्मियों और अधिकारियों कारगुजारियों ने आमलोगों की कौन कहे सूबे के पुलिस महानिदेशक को त्रस्त कर दिया है. अपने ही कार्यालय में तैनात पुलिसवालों को रास्ते पर लाने के लिए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को लगातार कई आदेश निकालना पड़ा है. डीजीपी की नाक के नीचे यानि पुलिस मुख्यालय में अधिकारी वर्दी को घर पर छोड़ कर जींस पैंट और टी शर्ट में दफ्तर पहुँच जा रहे हैं. हद देखिये कि कार्यालय पहुंचने के बाद भी वे कॉरीडोर में चाय पीते, मोबाइल पर बात करते हुए टाइम पास कर रहे हैं. नाराज डीजीपी ने पूरे पुलिस मुख्यालय की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से कराने का निर्देश दिया है. कैमरे की नजर में जो भी फैशन में चूर या फिर गप्पें मारते नजर आये, उनकी खैर नहीं.

पुलिस हेडक्वार्टर में जींस, टी-शर्ट, स्पोर्ट्स शू पर बैन

Also Read

-sponsored-

डीजीपी के आदेश पर आज पुलिस महानिरीक्षक ने आदेश निकाला है. पुलिस हेडक्वार्टर में काम करने वालों के लिए जींस पैंट, टी-शर्ट, स्पोर्ट्स शू, और चप्पल में दफ्तर आना बैन कर दिया गया है. पुलिस महानिरीक्षक के आदेश के मुताबिक पुलिस अधिकारी और दूसरे कर्मचारी फार्मल ड्रेस के बजाय कैजुअल कपड़ों में दफ्तर पहुंच जा रहे हैं. इससे पुलिस की गरिमा खत्म हो रही है. पुलिस महानिरीक्षक ने तत्काल प्रभाव से कैजुअल कपड़ों पर रोक लगा दिया है. अब से पुलिस हेडक्वार्टर में कार्यरत तमाम अधिकारी और कर्मचारी ऑफिस की मर्यादा के मुताबिक ही कपड़े पहन कर दफ्तर आना होगा.

सीसीटीवी की नजर में रहेंगे पुलिस अधिकारी

दरअसल, डीजीपी अपने ही दफ्तर के कर्मचारियों की कारगुजारियों से त्रस्त हैं. सरकार ने पुलिस हेडक्वार्टर के लिए बड़ा भवन दिया है. इसमें लंबा-चौड़ा कॉरीडोर है. पुलिस हेडक्वार्टर में तैनात अधिकारी-कर्मचारी इस कॉरीडोर में चाय पीते हुए, मोबाइल पर गप्पें लड़ाते हुए या फिर वाक करते हुए पाये जा रहे हैं. डीजीपी ने कॉरीडोर के हर कोने को सीसीटीवी की जद में लाने का निर्देश दिया है. सीसीटीवी कैमरे से पूरे कॉरीडोर पर नजर रखी जायेगी. इसकी रिपोर्ट आलाधिकारियों को जायेगी. जिसकी तस्वीर कैद हुई उसकी खैर नहीं. उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

दरअसल, अपने अधीनस्थों की कारगुजारियों से पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय काफी गुस्से में हैं. उनके तमाम निर्देशों के बावजूद पुलिसकर्मी सुधर नहीं रहे. लिहाजा अब कार्रवाई की तैयारी हो रही है.

विकाश चन्दन की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.