By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दुष्कर्म के 12 आरोपितों के खिलाफ जल्द जांच पूरी करें डीजीपी: महाधिवक्ता

- sponsored -

झारखंड के महाधिवक्ता अजीत कुमार ने लॉ कॉलेज की छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार 12 आरोपितों के खिलाफ जल्द जांच पूरी करने को कहा है।

-sponsored-

दुष्कर्म के 12 आरोपितों के खिलाफ जल्द जांच पूरी करें डीजीपी: महाधिवक्ता

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड के महाधिवक्ता अजीत कुमार ने लॉ कॉलेज की छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार 12 आरोपितों के खिलाफ जल्द जांच पूरी करने को कहा है। इस संबंध में महाधिवक्ता ने सोमवार को डीजीपी केएन चौबे को पत्र लिखकर कहा है कि लॉ कॉलेज मामले में 12 आरोपितों के खिलाफ जल्द इन्वेस्टिगेशन पूरा करें। जिससे उन लोगों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल शुरू किया जा सके। रांची पुलिस की प्रशंसा करते हुए महाधिवक्ता ने कहा कि पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई के बाद राज्य में एक अच्छा संदेश लोगों के बीच गया है। उल्लेखनीय है कि 28 नवम्बर को रांची के कांके में छात्रा से सामूहिक  दुष्कर्म मामले में पुलिस ने 12 आरोपितों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपितों में सुनील मुंडा, कुलदीप उरांव, सुनील उरांव, संदीप तिर्की, अजय मुंडा, राजन उरांव, नवीन उरांव, अमन उरांव, बसंत कच्छप, रवि उरांव, रोहित उरांव और ऋषि उरांव शामिल थे। इनके पास से एक कार, एक बाइक, एक पिस्टल, दो मैग्जीन, तीन जिंदा गोली, एक देशी कट्टा, आठ मोबाईल और पीड़िता का छिना गया मोबाइल फोन बरामद किया गया था।

क्या था पूरा मामला

Also Read

-sponsored-

पुलिस के अनुसार 26 नवंबर की रात में 25 वर्षीय लॉ कॉलेज की छात्रा अपने पुरुष मित्र के साथ रिंग रोड किनारे बैठकर बातचीत कर रही थी। इसी दौरान आस-पास के कुछ अज्ञात युवकों ने जबरन उसके पुरुष मित्र को रोककर छात्रा को बगल के ईंट भट्टे में ले जा कर सामूहिक दुष्कर्म किया था। छात्रा की शिकायत पर कांके थाना में सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था।  मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी के निर्देश पर एक विशेष टीम का गठन किया गया था। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी आरोपितों को गिरफ्तार किया था।  इसके बाद एसएसपी अनीश गुप्ता ने रविवार को लॉ कॉलेज पहुंचकर सुरक्षा की पूरी जानकारी ली थी। वहां टीओपी खोलने का आश्वासन भी छात्रों को दिया था। सुरक्षा को लेकर जवानों की तैनाती भी गयी थी।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.