By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

एडवांटेज केयर डायलाॅग में कौशल विकास और ई-लर्निंग पर विशेषज्ञ रखेंगे अपनी बात

रविवार को 12 से 1 बजे के बीच डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रसारित होगा कार्यक्रम

HTML Code here
;

- sponsored -

एडवांटेज केयर के वर्चुअल डायलॉग सीरीज के नौवें एपिसोड में कौशल विकास और ई-लर्निंग पर बात होगी। कोरोना काल में अपने कौशल का कैसे विकास किया जाए और इस दौरान आभासी माध्यम से कैसे पढ़ा व शिक्षा ग्रहण किया जाए, इस पर भी बात होगी।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : एडवांटेज केयर के वर्चुअल डायलॉग सीरीज के नौवें एपिसोड में कौशल विकास और ई-लर्निंग पर बात होगी। कोरोना काल में अपने कौशल का कैसे विकास किया जाए और इस दौरान आभासी माध्यम से कैसे पढ़ा व शिक्षा ग्रहण किया जाए, इस पर भी बात होगी। परिचर्चा का विषय है, ‘ कोविड काल में कौशल विकास और ई-लर्निंग‘। कार्यक्रम रविवार 27 जून अर्थात रविवार को दोपहर 12 बजे से एक बजे तक आयोजित किया जाएगा।

एडवांटेज केयर के संस्थापक खुर्शीद अहमद ने बताया कि चर्चा में बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक और अभ्यानंद सुपर-30 के संस्थापक अभ्यानंद, सिविल सर्विस की तैयारी कराने के क्षेत्र के जानेमाने नाम डॉ. एआर खान, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के शिक्षक डॉ. निशांत प्रकाश, बिट्स पिलानी के प्रो. एनवीएम राव और क्रिब्स गु्रप ऑफ हॉस्पिटल के चेयरमैन व संस्थापक मोहम्मद इम्तियाज शामिल होंगे। कार्यक्रम का संचालन जानीमानी टीवी एंकर अफशां अंजुम करेंगी। कार्यक्रम को जूम और यूट्यूब https://youtu.be/1ErjL05wdLE पर लाइव देखा जा सकता है। खुर्शीद अहमद के अनुसार कोई भी व्यक्ति देश और दुनिया के किसी भी कोने से निर्धारित समय पर निःशुल्क इस चर्चा को देख सकता है। वो विशेषज्ञों से सवाल भी पूछ सकते हैं।

सीखने और पढ़ने का पारंपरिक तरीका अब नहीं रहनेवाला : अभ्यानंद

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

भौतिकी के जानेमाने शिक्षक और बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक अभ्यानंद ने परिचर्चा के विषय पर कहा कि पारंपरिक लर्निंग और कौशल का विकास जो अब तक हम देखते आए हैं वो अब नहीं रहनेवाला है। आपको दूसरे तरीके से सोचना होगा। अब अनिश्चितता बहुत रहेगी। लोग उम्मीद कर रहे हैं एक-डेढ़ वर्ष में चीजें वापस होंगी। लेकिन मुझे इस पर शक है। आठ-10 वर्ष वाले बच्चों का भविष्य तो अजीब दिख रहा है। अब तक मध्यम वर्गीय परिवार में था कि पढ़िए, नौकरी कीजिए और फिर अपने बच्चे को पढ़ाइए। लेकिन अब यह बदलेगा। पिछले साल जिन्होंने आईआईटी में दाखिला लिया वो अब तक अपना कैंपस नहीं देख पाएं हैं। वीडियो आता है और उसी से पढ़ते हैं। पढ़ाई को वैकल्पिक बना दिया गया है।

बेरोजगार हुए को रिकवर करने पर भी होगी चर्चा : मोहम्मद इम्तियाज

परिचर्चा में भाग लेनेवाले क्रिब्स गु्रप ऑफ हॉस्पिटल के चेयरमैन व संस्थापक मोहम्मद इम्तियाज ने कार्यक्रम के संबंध में बोला कि कोविड की वजह से नौकरियां चली गई। ऐसे में वो कैसे रिकवर करें, इस पर चर्चा होगी। जिनके यहां मौतें हो गई, उन्हें कैसे सहारा मिले, इस पर भी बात होगी। कोविड-19 महामारी में लोग जिस कदर लोग परेशान हुए, इस पर भी बहस होगी। लोगों के स्वास्थ्य और वित्तीय स्थिति पर भी लोगों का मार्गदर्शन किया जाएगा। हमलोगों लोगों को इन समस्याओं का हल बताएंगे। वहीं, बिट्स पिलानी के प्रो. एनवीएम राव ने कहा कि यहां परिचर्चा आमलोगों और विद्यार्थियों के लिए मददगार होगा। जीवनयापन के लिए कैसा स्किल चाहिए, जो लोगों को भविष्य में मददगार हो। इन बिंदुओं पर बात होगी। परिचर्चा में फ्यूचर लर्निंग पर भी बात होगी। प्रो. राव ने कहा कि खुर्शीद अहमद द्वारा किया जा रहा प्रयास काफी सराहनीय है।

युवाओं के लिए काफी कुछ : सैयद नासीर हैदर

परिचर्चा की रूपरेखा तय करनेवाले सैयद नासीर हैदर का कहना है कि यह कार्यक्रम युवाओं के लिए काफी बेहतर होगा। कोरोना काल में वो कैसे अपने कौशल को निखारें, इस पर बात होगी। यदि 12वीं कक्षा में हैं तो आगे क्या कर सकते हैं। यदि मेडिकल या इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहे हैं तो ई-लर्निंग के माध्यम से कैसे तैयारी कर सकते हैं, इस पर भी बात होगी। लोगों को बताया जाएगा कि ऑनलाइन लर्निंग कैसे बेहतर हो सकता है और ज्यादा-से-ज्यादा फायदा मिल सकता है।

हई फाउंडेशन और एडवांटेज केयर ने शुरू किया अस्पताल : खुर्शीद अहमद

प्रख्यात सर्जन डॉ. ए. ए. हई के नेतृत्व में संचालित हई फाउंडेशन और एडवांटेज केयर मिलकर अररिया में अस्पताल शुरू किया है। एडवांटेज केयर के खुर्शीद अहमद ने बताया कि अभी यह छह बेड का अस्पताल है। लेकिन डेढ़ माह में यह 30 बेड का कर दिया जाएगा। काम प्रगति पर है। अभी कोविड मरीजों का मुफ्त में इलाज होगा। बाद में सामान्य मरीजों को भी देखा जाएगा और भर्ती किया जाएगा। खुर्शीद अहमद ने बताया कि इस तरह के बिहार के चार और गांवों में गरीब मरीजों के लिए निःशुल्क अस्पताल खोले जाएंगे। जहां अस्पताल अगले चरण में खुलेगा, उसमें मधुबनी, गया, पटना और सिवान शामिल है। अररिया के बाद मधुबनी का अस्पताल फंक्शनल करने की तैयारी चल रही है। क्रिब्स गु्रप ऑफ हॉस्पिटल के चेयरमैन व संस्थापक मोहम्मद इम्तियाज से वार्तालाप जारी है। अगले तीन माह में योजना पूरी हो जाने की उम्मीद है।

विभिन्न न्यूज पोर्टल पर भी होगा प्रसारित इस चर्चा का प्रसारण जूम और यूट्यूब के अलावा कुछ प्रमुख न्यूज पोर्टल पर होगा, जिसमें लाइव सिटीज, फस्र्ट बिहार-झारखंड, सिटी पोस्ट लाइव और नौकरशाही डॉट काम शामिल है। दर्शक इन पोर्टल पर जाकर भी चर्चा में भाग ले रहे विशेषज्ञों की बातों को सुन और देख सकते हैं।

अगले रविवार 4 जुलाई को ग्यारहवां एपिसोड होगा आयोजित

इस कार्यक्रम का ग्यारहवां एपिसोड अगले रविवार 4 जुलाई को दोपहर 12.00 बजे से आयोजित होगा। जिसका विषय है ‘‘हेल्थ एंड वेलनेस’’। इस कार्यक्रम में देश की जानी मानी हस्तियां शामिल होंगी। जिनमें रितीका समद्दार, चीफ डायटिषीयन, मैक्स हेल्थकेयर, साकेत, रिचा रंजन, नैचुरालिस्ट, बी.टेक. (आई.आई.टी. रूरकी), डाॅ. मनीश गुंजन, एम.बी.बी.एस., एम.डी. फाॅर्टिस हाॅस्पिटल, न्यू दिल्ली, योगाचार्या रवि झा, होल्डर आॅफ गोल्डेन बुक आॅफ वलर््ड रिकाॅर्ड हैं। इस कार्यक्रम का संचालन मशहुर टी.वी. एंकर नगमा सहर करेंगी। पिछले रविवार को भी इस तरह की चर्चा हुई थी, जिसमें 17 हजार लोग कार्यक्रम से सीधे जुड़े जबकि प्रिंट, इलेट्रॉनिक और सोशल मीडिया के माध्यम से 66 लाख लोेगों ने कार्यक्रम में हुई चर्चा के बारे में पढ़ा और जाना।

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.