By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

1900 करोड़ की लागत से गंगा पर बनेंगे चार पुल, जगह का हो गया है चयन

HTML Code here
;

- sponsored -

शुरू से ही गंगा नदी की वजह से पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने में परेशानी होती रही है. अब सरकार राजधानी पटना से उत्तर बिहार को जोड़ने के लिए  अगले चार साल में पटना में गंगा नदी पर चार नए पुल बनाने जा रही है. ये 4 पूल  24 लेन होंगे. पटना महानगर के आधारभूत ढांचे का विकास करने करने के लिए पथ निर्माण विभाग ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : शुरू से ही गंगा नदी की वजह से पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने में परेशानी होती रही है. अब सरकार राजधानी पटना से उत्तर बिहार को जोड़ने के लिए  अगले चार साल में पटना में गंगा नदी पर चार नए पुल बनाने जा रही है. ये 4 पूल  24 लेन होंगे. पटना महानगर के आधारभूत ढांचे का विकास करने करने के लिए पथ निर्माण विभाग ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है. मौजूदा समय में पटना आने जाने के लिए अभी 6 लेन पुल है लेकिन इसमे कार्यरत चार लेन है. इनमे दो लेन का दीधा का जेपी सेतु और गांधी सेतु के पूर्वी हिस्से का दो लेन का पुल शामिल है. गांधी सेतु के एक हिस्से का दो लेन पुल अभी मरम्मत के कारण बंद है.

पथ निर्माण विभाग के अनुसार इसी महीने पश्चिमी लेन से आवाजाही शुरू हो जाएगी. लेकिन इसके शुरू होने पर पूर्वी लेन को तोड़ने का काम शुरू होना है. लगभग 5 हजार करोड़ की लागत से बन रहे इस पुल को बनाने में वित्तिय समस्या आई तो राज्य सरकार इसे अपने स्तर से राशि की  व्यवस्था कर निर्माण कर रही है. दिसंबर 2021 तक इसे बनाने का लक्ष्य रखा गया है. पटना शहरी क्षेत्र में लोगों के लिए नए पुलों में सबसे पहले यही बनकर तैयार होगा. केबल पर टिका हुआ बिहार का यह सबसे लंबा 9.76 किमी का पुल है.

शहर के चारों ओर बनने वाले रिंग रोड परियोजना के तहत पटना के शहरी क्षेत्र में ही दो नए पुल  बनेंगे. एक जेपी सेतु के समानांतर तो दूसरा शेरपुर से दिघवाड़ा के बीच होगा. ये दोनों पुल चार चार लेन का होगा. इन दो पुलों के बनने से न केवल पटना बल्कि छपरा में 20 किमी से अधिक रिंग रोड का दायरा बढ़ जाएगा. पथ निर्माण विभाग ने इन दोनों पुलों का निर्माण भी इसी साल शुरू करने का लक्ष्य रखा है.अगर ये सभी चारो पुल बन गए तो लोगों का जीवन बहुत ही आसान हो जाएगा.सबसे ज्यादा उत्तर बिहार के लोगों को होगा जिनके पसीने छूट जाते हैं पटना आने में.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.