By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पति को बच्चा नहीं दे पाई महिला, तो ससुराल वालों ने पीट-पीटकर ले ली जान

HTML Code here
;

- sponsored -

एक महिला को अपने जीवन में बहुत सारी तकलीफें उठानी पड़ती है. बचपन से लेकर जवानी तक मां-बाप की इज्जत और खुद के लिए लड़ना पड़ता है. यही नहीं शादी के बाद भी कई महिलाओं को दहेज प्रताड़ना का शिकार होना पड़ता है. इन सबके बाद भी मन नहीं भरता तो बेटा चाहिए

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : एक महिला को अपने जीवन में बहुत सारी तकलीफें उठानी पड़ती है. बचपन से लेकर जवानी तक मां-बाप की इज्जत और खुद के लिए लड़ना पड़ता है. यही नहीं शादी के बाद भी कई महिलाओं को दहेज प्रताड़ना का शिकार होना पड़ता है. इन सबके बाद भी मन नहीं भरता तो बेटा चाहिए, उसके लिए प्रताड़ित किया जाता है. हद तो तब हो जाती है कि जब कोई महिला बच्चे को जन्म देने में असफल रहने पर उसे इतना प्रताड़ित किया जाता है कि वो खुद जान दे देती है या, वे लोग ही उसकी जान ले लेते हैं. कुछ ऐसा ही मामला नवादा जिले से सामने आया है. जहां एक महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.

घटना जिले के अकबरपुर थाना इलाके के पकरी गांव की है. मृतका की पहचान हिसुआ थाना क्षेत्र के घुरिहा गांव निवासी सुनील कुमार की बेटी पम्पी कुमारी (29 वर्ष) के रूप में की गई है। इस संबंध में परिजनों ने बताया कि पम्पी कुमारी की शादी 8 साल पहले पकरी गांव निवासी शैलेंद्र सिंह के बेटे नीतीश कुमार के साथ हुई थी। कई साल बाद भी दोनों को बच्चा नहीं हुआ। बच्चों को लेकर पति -पत्नी में झगड़ा होता रहता था। ससुराल वाले भी उसे प्रताड़ित करते रहते थे। कुछ दिन पहले पति और ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट की थी।

तबीयत बिगड़ने के बाद उसे इलाज के लिए नवादा फिर पटना ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। गुरुवार को शव को जलाने के लिए गांव के शमशान घाट ले जाया गया था। इसकी सूचना किसी ने पिता को दे दी। इसके बाद पिता ने इसकी सूचना अकबरपुर थाना को दी। सूचना के बाद थानाध्यक्ष अजय कुमार दलबल के साथ पहुंचे और शमशान से शव को बरामद कर लिया। वहीं से पति-ससुर को गिरफ्तार कर लिया। थानाध्यक्ष अजय कुमार ने बताया कि लड़की के पिता के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। पति और ससुर को गिरफ्तार किया गया है।

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.