By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दिल्ली में फँसे झारखण्ड के लोगों के लिए केजरीवाल ने कराया भोजन का प्रबंध

हेमंत सोरेन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को धन्यवाद किया

Above Post Content

- sponsored -

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रयास के बाद दिल्ली में फंसे झारखण्ड के लोगों के लिए भोजन का प्रबंध किया  गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद किया है।

Below Featured Image

-sponsored-

दिल्ली में फँसे झारखण्ड के लोगों के लिए केजरीवाल ने कराया भोजन का प्रबंध
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रयास के बाद दिल्ली में फंसे झारखण्ड के लोगों के लिए भोजन का प्रबंध किया  गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद किया है। इस सम्बंध में केजरीवाल ने जानकारी दी कि जिलाधिकारी को निर्देश दे दिया गया है की झारखंड से आए हुए हमारे इन भाइयों को दो वक्त का खाना मिले। दिल्ली में हम कोशिश कर रहें हैं कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। दरअसल मुख्यमंत्री को एक वीडियो साझा कर बताया गया कि झारखण्ड के कुछ लोग जो वहां मजदूरी करते हैं। लॉक डाउन की वजह से फंस गए हैं। खाने की व्यवस्था नहीं। भूख से मरने की नौबत आ गई है। मामले की जानकारी के बाद  झारखंड के मुख्यमंत्री ने  अरविंद केजरीवाल से इन्हें मदद पहुंचाने का अनुरोध किया था। साथ ही कहा कि झारखण्ड से बाहर रह रहे सभी लोगों से मेरा निवेदन है। जरूरत पड़ने पर 0651- 2282201 पर संपर्क करें। कंट्रोल रूम के माध्यम से हर जरूरतमंदों को उचित मदद पहुँचायी जाए।
Also Read

-sponsored-

तेलंगाना के 26 बच्चे झारखण्ड में हैं सुरक्षित 
वहीं दूसरी तरफ तेलंगाना के 26 बच्चों  के लिए झारखण्ड सरकर ने रहने और खाने का इन्तेजाम किया है। मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाते हुए कहा कि तेलंगाना के सभी 26 बच्चे साहेबगंज में सुरक्षित हैं। राज्य सरकार ने स्कूल प्रबंधन को बच्चों का पूरा ध्यान रखने का निदेश दिया है। उपायुक्त साहेबगंज को भी बच्चों की सुरक्षा, स्वास्थ्य को ध्यान में रख आगे की कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।
तेलंगाना से प्रवास में आये थे बच्चे
मुख्यमंत्री को बताया गया कि नवोदय विद्यालय चोपडण्डी, करीमनगर तेलंगाना के 26 बच्चे साहेबगंज स्थित नवोदय विद्यालय में शैक्षणिक प्रवास के लिए आये थे। लेकिन लॉकडाउन की स्थिति में तेलंगाना नहीं लौट सके। इस संदर्भ में तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने  हेमन्त सोरेन से बच्चों की देखभाल के लिये निवेदन किया गया था। इस तरह राज्यों के मुख्यमंत्री एक दूसरे से समन्वय बनाकर जहां अपने राज्य के लोगों को मद्द दिला रहें हैं वहीं दूसरे राज्यों के फंसे लोगों की मद्द करके मानवत का बेहतरीन मिसाल पेश कर रहे हैं।

 

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.