By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहारशरीफ में रसोई गैस की किल्लत, उपभोक्ताओं में मचा हाहाकार

;

- sponsored -

रसोई गैस की समुचित आपूर्ति नहीं होने के कारण बिहारशरीफ शहर के उपभोक्ताओं में पिछले एक माह से हाहाकार मचा हुआ है, जिसके कारण न केवरिया गैस की कालाबाजारी हो रही है बल्कि खुलेआम भेंडर  निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत में गैस को बेच रहे हैं.

-sponsored-

-sponsored-

बिहारशरीफ में रसोई गैस की किल्लत, उपभोक्ताओं में मचा हाहाकार

सिटी पोस्ट लाइव : रसोई गैस की समुचित आपूर्ति नहीं होने के कारण बिहारशरीफ शहर के उपभोक्ताओं में पिछले एक माह से हाहाकार मचा हुआ है, जिसके कारण न केवरिया गैस की कालाबाजारी हो रही है बल्कि खुलेआम भेंडर  निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत में गैस को बेच रहे हैं. हालांकि एजेंसी के द्वारा उपभोक्ताओं के घर तक गैस की आपूर्ति कराए जाने का प्रावधान है बावजूद इसके सड़कों पर ही गैस की डिलीवरी की जा रही  हैं. बिहारशरीफ के अधिकांश गैस एजेंसियों का यही आलम है गैस की गाड़ी पहुंचने के चार घंटे पहले से ही लोग गैस आने का इंतजार करते हैं, लेकिन जब उन्हें गैस नहीं मिल पाता तो भी निराश होकर लौट जाते हैं. इस दौरान कई उपभोक्ताओं की  भेंडर के साथ हाथापाई की नौबत आ जा रही है. कई लोग ऐसे हैं जिनके घरों में पिछले 5 दिनों से खाना नहीं बन पाया है.

बिहार शरीफ के गर्ल्स हाई स्कूल के नजदीक प्रातः 5 बजे से ही सड़कों पर लोगों की भीड़ लगी रही. उपभोक्ताओं का कहना है कि गैस की निर्धारित  मूल्य ₹689 है जबकि उपभोक्ताओं से  ₹700 वसूले जा  रहे हैं. यही नहीं लोगों का आरोप है कि भेंडर  रसोई गैस सिलेंडर का अवैध कारोबार करने वाले लोगों को ज्यादा कीमत में सिलेंडर उपलब्ध करा रहे हैं. जिससे यह मुसीबत और बढ़ गई है. इधर गैस एजेंसी के संचालक मुकेश कुमार ने बताया कि भारत पेट्रोलियम में गैस की समुचित आपूर्ति नहीं की जा रही है. जिसके कारण उपभोक्ताओं को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. मामला चाहे जो भी हो मगर बिहार शरीफ में खुलेआम गैस की कालाबाजारी से जहाँ उपभोक्ता परेशान हैं वहीं भेंडरों की चांदी कट रही है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.