By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मध्यस्थता से सुलझाए जा सकते हैं बहुतेरे विवाद : प्रधान न्यायाधीश

Above Post Content

- sponsored -

जिला विधिक सेवा प्राधिकार की ओर से रविवार को स्थानीय न्याय सदन में मध्यस्थता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में न्याय सेवा से जुड़े कर्मचारी एवं महिला व पुरुष शामिल हुए।

Below Featured Image

-sponsored-

मध्यस्थता से सुलझाए जा सकते हैं बहुतेरे विवाद : प्रधान न्यायाधीश
सिटी पोस्ट लाइव, बोकारो: जिला विधिक सेवा प्राधिकार की ओर से रविवार को स्थानीय न्याय सदन में मध्यस्थता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में न्याय सेवा से जुड़े कर्मचारी एवं महिला व पुरुष शामिल हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश मो. शाकिर ने किया। इस अवसर पर मो. शाकिर ने कहा कि बहुत सारे ऐसे मामले हैं, जो आपसी मध्यस्थता से सुलझाए जा सकते हैं। इसे लेकर समाज में जागरूकता की आवश्यकता है। इसी उद्देश्य से पहले अधिवक्ताओं के लिए, फिर जजों के लिए और आज पीएलबी एवं महिलाओं के लिए मध्यस्थता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसका उद्देश्य यही है कि कार्यशाला के प्रतिभागी गांवों में जाकर मीडिएशन यानी मध्यस्थता को लेकर लोगों को जागरूक करें। सरकार मध्यस्थता को लेकर बहुत सारे पैसे भी खर्च करती है लेकिन जानकारी के अभाव में लोग इसका लाभ नहीं ले पाते हैं। उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति/जनजाति, पति-पत्नी के घरेलू विवाद, आपसी लेनदेन, धोखाधड़ी, छोटी-मोटी चोरियां आदि से संबंधित मामले आपसी मध्यस्थता से सुलझाए जा सकते हैं।
Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.