By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मोदी सरकार गरीबों, मजदूरों, महिलाओं और किसानों के लिये चिंतित : दीपक प्रकाश

Above Post Content

- sponsored -

झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने भारत सरकार के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा गुरुवार को एक लाख 70 हजार  करोड़ रुपये के गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा का स्वागत किया है।

Below Featured Image

-sponsored-

मोदी सरकार गरीबों, मजदूरों, महिलाओं और किसानों के लिये चिंतित : दीपक प्रकाश
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने भारत सरकार के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा गुरुवार को एक लाख 70 हजार  करोड़ रुपये के गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि संकट के इस दौर में जो सबसे ज्यादा प्रभावित वर्ग है वह है गरीब वर्ग,रोज कमाने और खाने वाला मजदूर वर्ग जिसमे बड़ी संख्या में महिलाये शामिल हैं। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक्ड डाउन में इनकी कमाई बुरी  तरह प्रभावित हुई है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही एक संवेदनशील सरकार चुप नहीं बैठ सकती। प्रकाश ने कहा कि यह सरकार पहले से ही गांव गरीब किसान को समर्पित सरकार है। प्रकाश ने कहा कि मोदी सरकार ने संकट के इस दौर में अन्न और धन दोनो की चिंता गरीबों केलिये की है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन की स्थिति में कोई भूखा नहीं रहे इसके विशेष प्रबंध  किये गए हैं। अब गरीबों को पांच किलोग्राम अतिरिक्त अनाज चावल या गेहूं के साथ एक किलोग्राम दाल भी मुफ्त मिलेंगे। जिसका लाभ सीधे तौर पर देश के 80 करोड़ लोगों को मिलेगा। मजदुरों की चिंता करते हुए मोदी सरकार ने मनरेगा की मजदूरी बढ़ाकर अब 202 कर दिए है, जिसके कारण मनरेगा मजदूरों को बड़ा लाभ मिलेगा। सरकार ने किसानों को दिए जाने वाले सम्मान निधि की दो हजार रुपए की राशि अप्रैल के प्रथम सप्ताह में सीधे किसानों के खाते में भेजने का निर्णय लिया है। यह सुबिधा देश के आठ करोड़ 70 लाख किसानों तक अगले सप्ताह पहुँचनेवाली है।
Also Read

-sponsored-

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार ने बृद्धजनो, दिव्यांगों एवम विधवा बहनों की चिंता करते हुए अगले तीन महीनों तक एक हज़ार अतिरिक्त पेंशन राशि देने की घोषणा की है। इसके अतिरिक्त रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध कराने ,स्वयं सहायता समूहों को 10 लाख की जगह 20 लाख रुपए की सहायता राशि देने, से सात करोड़ परिवार अर्थात 35 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे। प्रकाश ने कहा कि संगठित क्षेत्र केलिये सरकार ने चिंता करते हुए चार करोड़ 80 लाख कामगारों के  ईपीएफ की पूरी  24 प्रतिशत राशि को सरकारी खजाने से भरने का निर्णय लिया है। मोदी सरकार ने  विश्व व्यापी इस कोरोना से संकट के दौर से भारत को उबारने केलिये महत्वपूर्ण फैसले लिये हैं। प्रकाश ने कहा कि कोरोना संकट के इस दौर में  अपनी जान की बाजी लगाकर मानवता की सेवा में जुटे डॉक्टर्स नर्सेज सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियो की सेवा को भुलाया नहीं जा सकता। मोदी सरकार ने इनकी विशेष चिंता करते हुए इनके लिये 50 लाख रुपए की बीमा की घोषणा की ।

 

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.