By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नक्सलियों ने पूर्व कुख्यात रिजनल कमांडर कुंदन पाहन के खिलाफ लगाए पोस्टर

- sponsored -

प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के पूर्व कुख्यात रिजनल कमांडर कुंदन पाहन के खिलाफ तमाड़ विधानसभा क्षेत्र में पोस्टर लगाए गए हैं। रीजनल कमिटी के सचिव रह चुके कुंदन अब अपने ही पुराने साथियों के निशाने पर हैं।

-sponsored-

नक्सलियों ने पूर्व कुख्यात रिजनल कमांडर कुंदन पाहन के खिलाफ लगाए पोस्टर

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के पूर्व कुख्यात रिजनल कमांडर कुंदन पाहन के खिलाफ तमाड़ विधानसभा क्षेत्र में पोस्टर लगाए गए हैं। रीजनल कमिटी के सचिव रह चुके कुंदन अब अपने ही पुराने साथियों के निशाने पर हैं। सरेंडर करने के बाद कुंदन झारखंड के तमाड़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन कुंदन के पुराने साथियों ने उसे गद्दार घोषित कर दिया है। तमाड़ इलाके में माओवादियों ने पोस्टर लगाकर ग्रामीणों को सख्त हिदायत दी है कि वह गद्दार कुंदन को वोट न करें।

नक्सलियों ने अपने प्रभाव वाले क्षेत्र में जगह-जगह पोस्टर लगाकर कुंदन पाहन को वोट नहीं देने और उसके समर्थकों के वोट मांगने के लिए आने पर मारकर भगा देने को कहा है। नक्सलियों ने पोस्टर में लिखा है- शर्म करो, कुंदन पाहन शर्म करो। उल्लेखनीय है कि प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के झारखंड रीजनल कमेटी के सचिव कुंदन पाहन ने 14 मई 2017 को पुलिस के समक्ष सरेंडर किया था। वह डीएसपीए, इंस्पेक्टर की हत्या समेत 120 से आपराधिक मामलों में वांछित है। खूंटी में 50, रांची में 42 चाईबासा में 27, सरायकेला में 7, गुमला में एक कांड दर्ज हैं। कुंदन पर 15 लाख रुपए का इनाम भी घोषित था। कुंदन 2000 में भाकपा माओवादी में शामिल हुआ। इसके बाद उसने झारखंड में कई वारदातों को अंजाम दिया। कुंदन पर सांसद सुनील महतो, पूर्व मंत्री और विधायक रमेश सिंह मुंडा, बुंडू डीएसपी प्रमोद कुमार समेत छह पुलिसकर्मी और स्पेशल ब्रांच के इंस्पेक्टर फ्रांसिस इंदवार की हत्या का भी आरोप है। इसके अलावा एक प्राइवेट बैंक से पांच करोड़ रुपए और एक किलो सोना लूटने का भी आरोप है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.